मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

आकार में कोई परिवर्तन नहीं, 2 वर्ष पहले
छो
बॉट: किमी. -> किलोमीटर
 
=== तिमनगढ़ किला ===
(40 किलोमीटर)
(40 किमी.)
[[File:Timangarh.jpg|thumb|तिमनगढ किला]]
तीमनगढ़ हिण्डौन सिटी के निकट है। इस किले का निर्माण 12वीं शताब्‍दी के मध्‍य में हुआ था। अपने समय में तिमनगढ़ स्‍थानीय सत्‍ता का केंद्र था। 1196 में यहां के राजा कुंवर पाल का हराकर मोहम्‍मद गौरी और उनके सेनापति कुतुबुद्दीन ने इस पर अपना कब्‍जा कर लिया था। इसके बाद राजा कुंवर पाल को रेवा के एक गांव में शरण लेनी पड़ी। किले के मुख्‍य द्वार पर मुगल स्‍थापत्‍य कला का प्रभाव दिखाई पड़ता है। लेकिन किले के आं‍तरिक हिस्‍सों पर यह प्रभाव नहीं है। इसकी दीवारें, मंदिर और बाजार अपने सही रूप में देखे जा सकते हैं। किले से सागर झील का विहंगम दृश्‍य भी देखा जा सकता है।{{उद्धरण आवश्यक}}
=== श्री कैला देवी मंदिर ===
[[File:Kailadevi Temple.jpg|thumb|कैलादेवी मंदिर करौली.]]
श्री कैला देवी जी मंदिर हिण्डौन सिटी से 53 किमी.किलोमीटर दूर स्थित है। यह माना जाता है कि इस मंदिर की स्‍थापना 1100 ई. में हुई थी। श्री कैला देवी पूर्वी राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश और उत्‍तर प्रदेश के लाखों लोगों की आराध्‍य देवी हैं। प्रतिवर्ष करीब 60 लाख श्रद्धालु यहां दर्शनों के लिए आते हैं। यह मंदिर देवी दुर्गा के 9 शक्तिपीठों में से एक है। चैत्र नवरात्रों में यहां मेले का आयोजन किया जाता है।{{उद्धरण आवश्यक}}
 
=== कैला देवी अभ्‍यारण्‍य ===
{{main|कैला देवी अभयारण्य}}
(53 किलोमीटर)
(53 किमी.)
यह अभ्‍यारण्‍य हिण्डौन सिटी से 53 किमी.किलोमीटर दक्षिण पश्चिम में स्थित है। इस अभ्‍यारण्‍य की सीमा कैलादेवी मंदिर के पास से शुरु होकर करन पुर तक जाती हैं और रणथंभौर राष्‍ट्रीय उद्यान से भी मिलती हैं। कैला देवी अभ्‍यारण्‍य में नीलगाय, तेंदुए और सियार के अलावा किंगफिशर में मिलते हैं।{{उद्धरण आवश्यक}}
 
==सन्दर्भ==