"ईरान" के अवतरणों में अंतर

8 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
छो
बॉट: अनुभाग एकरूपता
छो (बॉट: किमी. -> किलोमीटर)
छो (बॉट: अनुभाग एकरूपता)
 
== भौगोलिक स्थिति और विभाग ==
ईरान को पारंपरिक रूप से मध्यपूर्व का अंग माना जाता है क्योंकि ऐतिहासिक रूप से यह मध्यपूर्व के अन्य देशों से जुड़ा रहा है। यह [[अरब सागर]] के उत्तर तथा [[कैस्पियन सागर]] के बीच स्थित है और इसका क्षेत्रफल 16,48,000 वर्ग किलोमीटर है जो भारत के कुल क्षेत्रफल का लगभग आधा है। इसकी कुल स्थलसीमा ५४४० किलोमीटर है और यह [[इराक]](१४५८ कि.मी.कि॰मी॰), [[अर्मेनिया]](३५), [[तुर्की]](४९९), [[अज़रबैजान]](४३२), [[अफग़ानिस्तान]](९३६) तथा [[पाकिस्तान]](९०९ कि.मी.कि॰मी॰) के बीच स्थित है। कैस्पियन सागर के इसकी सीमा सगभग ७४० किलोमीटर लम्बी है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह विश्व में १८वें नंबर पर आता है। यहाँ का भूतल मुख्यतः पठारी, पहाड़ी और मरुस्थलीय है। वार्षिक वर्षा २५ सेमी होती है।
 
समुद्र तल से तुलना करने पर ईरान का सबसे निचला स्थान उत्तर में कैस्पियन सागर का तट आता है जो २८ मीटर की उचाई पर स्थित है जबकि [[कूह-ए-दमवन्द]] जो कैस्पियन तट से सिर्फ ७० किलोमीटर दक्षिण में है, सबसे ऊँचा शिखर है। इसकी समुद्रतल से ऊँचाई ५,६१० मीटर है।