मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Jean Piaget in Ann Arbor.png|अंगूठाकार|ज़ाँ प्याज़े]]
[[ज़ाँ प्याज़े|पियाजे]] द्वारा प्रतिपादित '''संज्ञानात्मक विकास सिद्धान्त''' (theory of cognitive development) [[मानव बुद्धि]] की प्रकृति एवं उसके विकास से सम्बन्धित एक विशद सिद्धान्त है। प्याज़े का मानना था कि व्यक्ति के विकास में उसका [[बचपन]] एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। पियाजे का सिद्धान्त, '''विकासी अवस्था सिद्धान्त''' (developmental stage theory) कहलाता है। यह सिद्धान्त [[ज्ञान]] की प्रकृति के बारे में है और बतलाता है कि मानव कैसे ज्ञान क्रमशः इसका अर्जन करता है, कैसे इसे एक-एक कर जोड़ता है और कैसे इसका उपयोग करता है।