"अयनांत" के अवतरणों में अंतर

58 बैट्स् जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
छो
चित्र जोड़ें AWB के साथ
छो (चित्र जोड़ें AWB के साथ)
'''अयनांत''' एक खगोलीय घटना है जो वर्ष में दो बार घटित होती है जब सूर्य [[खगोलीय गोला|खगोलीय गोले]] में [[खगोलीय मध्य रेखा]] के सापेक्ष अपनी उच्चतम अथवा निम्नतम अवस्था में भ्रमण करता है। [[विषुव]] और अयनांत मिलकर एक ऋतु का निर्माण करते हैं। विभिन्न सभ्यताओं में अयनांत को ग्रीष्मकाल और शीतकाल की शुरुआत अथवा मध्य बिन्दु माना जाता है।<ref>{{cite book |title=अंटार्कटिक भविष्य का महाद्वीप |author=श्याम सुन्दर शर्मा |publisher=प्रभात प्रकाशन |year=२००९ |isbn=9788177210590 |url=https://books.google.co.in/books?id=hNBzBQAAQBAJ |page=५८}}</ref>
 
 
==इन्हें भी देखें==
 
{{खगोलशास्त्र-आधार}}
 
[[श्रेणी:कैलंडर]]
[[श्रेणी:खगोलीय घटनाएँ]]
[[श्रेणी:ज्योतिष के तकनीकी आयाम]]
[[श्रेणी:सौर मंडल की खगोलीय घटनाएँ]]
[[श्रेणी:चित्र जोड़ें]]
9,894

सम्पादन