"पुष्पक विमान" के अवतरणों में अंतर

418 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[File:Pushpakviman.jpg|thumb|पुष्पक विमान]]
'''पुष्पकविमान''' [[हिन्दू]] [[पुराण| पौराणिक]] महाकाव्य [[रामायण]] में वर्णित वायु-वाहन था| इसमें [[लंका]] के राजा [[रावण]] आवागमन किया करता था। इसी विमान का उल्लेख सीता हरण प्रकरण में भी मिलता है। रामायण के अनुसार राम-रावण युद्ध के बाद [[श्रीराम]], [[सीता]], [[लक्ष्मण]] तथा लंका के नवघोषित राजा [[विभीषण]] तथा अन्य बहुत लोगों सहित लंका से [[अयोध्या]] आये थे। यह विमान मूलतः धन के देवता, [[कुबेर]] के पास हुआ करता था, किन्तु रावण ने अपने इस छोटे भ्राता कुबेर से बलपूर्वक उसकी नगरी सुवर्णमण्डित लंकापुरी तथा इसे छीन लिया था।<ref अन्य ग्रन्थों में उल्लेख अनुसार पुष्पक विमान का प्रारुप एवं निर्माण विधि [[अंगिरा ऋषि]] द्वारा एवं इसका निर्माण एवं साजname="अजब"><!-सज्जा देव-शिल्पी [[विश्वकर्मा]] द्वारा की गयी{{cite थी।web |url=https://goo.gl/Bh9ft2
|title= रामायण में वर्णित पुष्पक विमान क्या है?
|accessmonthday= |accessdate= |last= |first= |authorlink= |coauthors= |date= २२ जून, २०१५|year= |month= |format= |work= |publisher= अजब्-गजब |pages= |language=
 
|archiveurl= |archivedate= |quote= }}--> </ref> अन्य ग्रन्थों में उल्लेख अनुसार पुष्पक विमान का प्रारुप एवं निर्माण विधि [[अंगिरा ऋषि]] द्वारा एवं इसका निर्माण एवं साज-सज्जा देव-शिल्पी [[विश्वकर्मा]] द्वारा की गयी थी।
{{TOC}}
{{-}}