"विभाज्यता के नियम" के अवतरणों में अंतर

→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: चाहिये. → चाहिये। (2), हो. → हो। , हो. → हो। (4), नहीं. → नहीं। , →
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
(→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: चाहिये. → चाहिये। (2), हो. → हो। , हो. → हो। (4), नहीं. → नहीं। , →)
|-
|'''2'''
|संख्या का अन्तिम [[अंक]] सम (0, 2, 4, 6, or 8) हो.हो।
|1,294: इसमें अन्तिम अंक 4 [[सम संख्या|सम]] है।
|-
|'''3'''
|दी हुई संख्या के सभी अंकों का योग 3 से विभाजित हो.हो। बहुत बड़ी संख्याओं (जिनके अंकों का योग भी बड़ी संख्या हो) के लिये यह नियम अंकों के योग पर भी लागू किया जाता है।
|405:6+3+6=15 जो कि 3 से विभाज्य है। 16,499,205,854,376 के अंकों का योग 69 है; 6 + 9 = 15, 1 + 5 = 6, जो स्पष्टत: 3 से विभाज्य है।
|-
| 5,096: 6 + (2 × 9) = 24
|-
|अन्तिम दों अंकों से बनी संख्या 4 से विभाज्य हो.हो।
|40832: 32 is divisible by 4.
|-
|यदि दहाई स्थान पर स्थित अंक सम हो तथा इकाई स्थान पर 0, 4, या 8 हो.हो।
यदि दहाई स्थान का अंक विषम हो तथा इकाई स्थान पर 2, या 6.
|40832: 3 विषम है, तथा अन्तिम अंक 2 है।
|-
|rowspan=2|'''6'''
|संख्या 2 और 3 दोनो से विभक्त होती हो.हो।
|1,458: 1 + 4 + 5 + 8 = 18, 1 + 8 = 9, अत: संख्या 3 से विभाज्य है और साथ ही अन्तिम अंक सम होने के कारण 2 से भी विभाज्य है। इसलिये यह संख्या 6 से विभाज्य है।
|-
| style="border-bottom: hidden;" |1,369,851: 851 - 369 + 1 = 483 = 7 × 69
|-
| style="border-bottom: hidden;" |अन्तिम अंक का दोगुना, बाकी संख्या से घटाइये और जांचिये कि परिणाम 7 से विभाज्य है या नहीं.नहीं।
| style="border-bottom: hidden;" |483: 48 - (3 × 2) = 42 = 7 x 6.
|-
|-
|'''9'''
|सभी अंकों का योगफल 9 से विभाज्य होना चाहिये.चाहिये। बड़ी संख्याओं के लिये यह क्रिया बार-बार की जा सकती है अर्थात अंकों का योग भी बड़ा हो तो उसकी भी इसी रीति से परीक्षा की जाती है। अन्तिम परिणाम 9 आना चाहिये।
|2,880: 2 + 8 + 8 + 0 = 18: 1 + 8 = 9.
|-
|'''10'''
|अन्तिम अंक शून्य (0) होना चाहिये.चाहिये।
|130: अन्तिम अंक 0 है।
|-