"पुष्पक विमान" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
|language=
|archiveurl= |archivedate= |quote= }}</ref>
क्योंकि विमान गगन में अपने स्वामी की इच्छा के अनुसार भ्रमण करने में सक्षम था, अतः इसे इसके स्वामी कुबेर द्वार देवताओं को यात्रा कर के लिये भी दिया जाता था। एक बार रावण ने कुबेर से उसकी नगरी लंकापुरी एवं यह यह विमान बलपूर्वक छीन लिया था, तभी कुबेर ने वर्तमान [[तिब्बत]] के निकट नयी नगरी [[अलकापुरीअल्कापुरी]] का निर्माण करवाया। रावण के वध उपरान्त भगवान राम ने इसे लेकर एकल प्रयोग उपरान्त इसके मूल स्वामी कुबेर को लौटा दिया था। इस एकल प्रयोग को विभीषण के बहुत निवदन पर राम ने सब लोगों के लंका से अयोध्या वापसी हेतु प्रयोग किया था।<ref name="ज्ञान"/><ref name="उजाला"> {{cite web |url= http://www.amarujala.com/spirituality/religion/ramleela-puspak-viman-airport-of-ravan
|title=अच्छा तो यहां रखता था रावण अपना पुष्पक विमान |accessmonthday= |accessdate= |last= |first=टीम डिजिटल |authorlink= |coauthors= |date= ११ अक्तूबर, २०१३|year= |month= |format= |work= |publisher= |pages= |language=