"पुष्पक विमान" के अवतरणों में अंतर

619 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: 2017 स्रोत संपादन
|archiveurl= |archivedate= |quote= }} </ref>
 
वर्त्तमान श्रीलंका की श्री रामायण रिसर्च समित्ति के अनुसार रावण के पास अपने पुष्पक विमान को रखने के लिए चार विमानक्षेत्र थे। इन चार विमानक्षेत्रों में से एक का नाम उसानगोड़ा था। इस हवाई अड्डे को हनुमान जी ने लंका दहन के समय जलाकर नष्ट कर दिया था।<ref name="अवश्य"/> अन्य तीन हवाई अड्डे गुरूलोपोथा, तोतूपोलाकंदा और वारियापोला थे जो सुरक्षित बच गए।<ref name="उजाला"/><ref name="भास्कर">{{cite web |url=http://www.bhaskar.com/news/PUN-JAL-airport-prevailed-in-raavan-regime-4264114-PHO.html?&storyid=8248344&photoID=2072984
|title=ये हैं दुनिया के सबसे पुराने हवाई अड्डे जहां हनुमान जी ने मचा दी थी तबाही !
|accessmonthday= |accessdate= |last= न्यूज़|first=भास्कर |authorlink= |coauthors= |date=्मई १५, २०१३ |year= |month= |format= |work= |publisher= |pages= |language=
 
|archiveurl= |archivedate= |quote= }} </ref>
 
==ग्रन्थों में उल्लेख==