"खण्डकाव्य" के अवतरणों में अंतर

199 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
अनावश्यक चित्र निष्कासन
छो (HotCat द्वारा श्रेणी:रामायण के काण्ड जोड़ी)
(अनावश्यक चित्र निष्कासन)
[[चित्र:Naripuja.png|350px|राजेन्द्र्प्रसाद पन्त द्वारा रचि गैई खन्डकाव्य-नारी पूजा।]]
 
'''खण्डकाव्य''' [[साहित्य]] में [[प्रबंध काव्य]] का एक रूप है। जीवन की किसी घटना विशेष को लेकर लिखा गया काव्य खण्डकाव्य है। "खण्ड काव्य' शब्द से ही स्पष्ट होता है कि इसमें मानव जीवन की किसी एक ही घटना की प्रधानता रहती है। जिसमें चरित नायक का जीवन सम्पूर्ण रूप में कवि को प्रभावित नहीं करता। कवि चरित नायक के जीवन की किसी सर्वोत्कृष्ट घटना से प्रभावित होकर जीवन के उस खण्ड विशेष का अपने काव्य में पूर्णतया उद्घाटन करता है।
 
9,893

सम्पादन