"राम नरेश यादव" के अवतरणों में अंतर

4,510 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो (बॉट: वर्तनी एकरूपता।)
'''राम नरेश यादव''' (01 जुलाई 1927 - 22 नवंबर 2016) [[भारत|भारतीय]] राजनेता और [[उत्तर प्रदेश]] के भूतपूर्व मुख्यमंत्री थे। वे मूलतः [[जनता पार्टी]] के एक नेता थे। १९७७ के जनता पार्टी की सरकार के आने पर वह [[उत्तर प्रदेश]] के [[मुख्य मंत्री]] बनाये गए। बाद में उन्होंने [[भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस]] की सदस्यता ग्रहण कर ली।
 
chawalpuller.blogspot.in----------22 जून को मेरे यार अवश्यम्भावी उपराष्ट्रपति भगवान बरखास्त यंत्री प्रवासी भारतीय लेखक दिवेश भट्ट की फिर से पेशी है 26 जुलाई को अगला प्रथम नागरिक भारत का अगला राष्ट्रपति कौन होगा ? A. मुरली मनोहर जोशी / लाल कृष्ण आडवाणी B. वेंकैया नायडू / राम नाईक / थावर चंद गहलोत C. महिला द्रौपदी मुर्मू / राम नाईक / शरद पवार D. जनप्रतिनिधि भगवान 9479056341 बजरंगी भाईजान / बरखास्त उपयंत्री प्रवासी भारतीय लेखक 9981011455 दिवेश भट्ट ...............२६ जुलाई को अगला प्रथम नागरिक अवश्यम्भावी राष्ट्रपति जनप्रतिनिधि भगवान ९४७९०५६३४१ बजरंगी भाईजान & ०५ अगस्त को अगला द्वितीय नागरिक बरखास्त उपयंत्री प्रवासी भारतीय लेखक ९९८१०११४५५ दिवेश भट्ट भारत का अगला उपराष्ट्रपति सबसे पहले क्या करेंगे ? A. पत्रकार अजय साहू ९८२६१४५६८३ + संगीता सुपारी ९४२४२१९३१६ की हत्या B. जिंदा ईई इंजीनियर ज्ञान सिंह पिरोनिया ९४०६३••७६५ स्मृति ई फाइबर सीट मुद्रा परिवर्तन C. प्रसिद्ध लेखक भगवान के एन सिंह ७६९७१२८४९७ का त्रुटिहीन संविधान संशोधन D. सचिन ठेकेदार ९९२६२६३४१० को भारत रत्न अवार्ड " टट्टी बदल २ आन्दोलन २०१७ " E. पदग्रहण + पिंकी जानेमन का बिना कंडोम भरपेट भोजन www.ricepullers.in नक्सली समस्या का समूल उन्मूलन मादरचौद पर्चाछापू अजय साहू 09826145683 + कानूनपीऊ टोपो 09406368529 की सजा-ए-मौत के लिए फांसी का प्रबंध है – sd/- दु:ख- प्रताड़ना के हमकैदी साथी पूज्यपड़ोसी पितृतुल्य सट्टाकिग काजू बापूजी आंतरराष्ट्रीय दूरध्वनी क्रमांक 917898302875 कांशीराम गोंड़ 09424219316 पोस्ट आफिस पासीद की सजा-ए-मौत के लिए फांसी09406368529 राइसपुलर नौ NO नही 08412866644 स्वरगिनी संगीता 07587451660 झपकी 09407924284 I मेरे लेखन का षडयंत्र पगलाए मोहित पोस्को & नर्कगिन्नी को फाँसी चौ2 है I पृथ्वीवासिंदों से विनती की जाती है कि हितोपदेश + पंचतंत्र तथा अन्य नीति के ग्रंथों की नीतिकथाओं : मित्रलाभ : सुवर्णकंकणधारी बूढ़ा बाघ और मुसाफिर ; कबुतर, काक, कछुआ, मृग और चूहे ; मृग, काक और गीदड़ ; भैरव नामक शिकारी, मृग, शूकर, साँप और गीदड़ ; धूर्त गीदड़ और हाथी सुहृद्भेद; एक बनिया, बैल, सिंह और गीदड़ों ; धोबी, धोबन, गधा और कुत्ते ; सिंह, चूहा और बिलाव ; बंदर, घंटा और कराला नामक कुटनी ; सिंह और बूढ़ शशक ; कौए का जोड़ा और काले साँप : विग्रह : पक्षी और बंदरो ; बाघंबर ओढ़ा हुआ धोबी का गधा और खेतवाले ; हाथियों का झुंड और बूढ़े शशक ; हंस, कौआ और एक मुसाफिर ; नील से रंगे हुए एक गीदड़ ; राजकुमार और उसके पुत्र के बलिदान ; एक क्षत्रिय, नाई और भिखारी : संधि : सन्यासी और एक चूहे ; बूढ़े बगुले, केंकड़े और मछलियों ; सुन्द, उपसुन्द नामक दो दैत्यों ; एक ब्राह्मण, बकरा और तीन धुता ; माधव ब्राह्मण, उसका बालक, नेवला और साँप की कहानियाँ से सीखो - राइस पुलर & क्रेता- विक्रेता न ही होता है, न ही बंनता/बिकता है ; चावल खींचने कटोरी कॉपर आइटम, तांबे के प्राचीन सिक्के, इरीडियम सिक्का, लेबो तांबे का सिक्का, इंदिरा गाँधी सिक्का, लौंग खींचने – टचर ज्वालाशराबी, मशाल टेस्ट,एंटीआयरन, पाताल रखियातूमाडोड़काकुम्हड़ा, लाल प्याज, बीस नाखून कछुआ, हर्बल आइटम, इमली पल्प, नागमणी, गजमुक्ता, हर्बल पौधों, पलाश पेड़, लिलिपुट की साडे सात मन टट्टी और RPLPMPMMMNMIRROR की किसी भी अन्य अफवाहों से इससे पह्ले की इंडिया वाले बर्बाद होकर भिखारी @ फुटपाथपति हो जायें – क्यूं न (1) अग्ली & पगली औरत चमेलीबाई की हत्या करें ? (2) पृथ्वी से करीब सवा 100 करोड़ रुपए सुपाड़ी सशस्त्र लूटने पर धतुरिंबायीं को फांसी चौ२ की कोई फैंटसी हीं करें ? (3) चसमेवालेबाबाg को लेखन श्रेणी का नोबेल पुरस्कार सम्मानित करें; अपितु दुःशील, लंपट, व्यभिचारी, अविनीत, हठ, धृष्ट, चिड़चिड़ा, बदमिज़ाज, गुस्ताख , ढीठ , प्रतिकूल , शत्रुताकारी, निर्मोही, भावनाशून्य, निष्ठुर, अभद्र, अशिष्ट, विचारशून्य, हठीला, अड़ियल, मनमोजी, अपरिमाजित, दुराग्रही, उद्दाम, अननुकूल, ग़ैरमिलनसार, कर्कश, निरंकुश सनकी टोपो झक्की को @ 12 5 % = 15 6 Crore एवमस्तु बाबू ओं को 70-80 हजारो पिला दो I धन्यवाद I भारत गणराज्य की प्रगति इस बात पर निर्भर है कि :- इंडियन फगली किस-किस को कितना-कितना लूट रही है I संगीता झपकी की ज़िन्दगी समाज के लिये बर्बादी है | पगलो को इंडिया से करीब सवा 100 करोड़ रुपए सुपाड़ी सशस्त्र लूट करने की आशंका है ; सवा करोड़ लूट चुकी है जरुरत है तो उन्हें पायल बस से सुबह-सबेरे गलत दिशा फेकू दू + ए के ४७ दू और विदेशी लेखक डीकेभट्ट की 753 दिवस से भूखे प्यासे बिना एकाध रुपए वेतन, बिना एकाध रुपए जीवन निर्वाह गुजारा भत्ता, बिना पेंशन, बिना एकाध रुपए बैंक ऋण, बिना एकाध रुपए जीपीएफ़ जमापूँजी, बिना बीबी-बिना बच्चे, बिना रोटी कपड़ा; मकान; बिना एकाध दाल-बाटी, बिना एकाध ब्रेड, बिना एकाध रोटी, बिना एकाध पराठा-परौठा-परावठा, बिना एकाध पूरनपूरी, बिना एकाध कुल्चा-नान, बिना एकाध भटूरा-खाखाड़ा; सिर्फ केवल मात्र एकाध किलो सुअरफ्री टट्टी - रात को 2 बजे पुलिस भिजवाकर | मैं बेहद प्रसन्न हूं कि फगली हत्या योजना के तहत सामूहिक फांसी दूंगा | 22 वीं सदी फगली फ्री होगी -पवन जल्लाद I पत्र का विवरण पत्र क्रमांक - 991616006619 दिनांक - 06-04-2016 श्रेणी - ऑनलाइन जनदर्शन आवेदक का नाम - तिहाड़वासी निलंबित दिवेश भट्ट आवेदक का पता - केदी नम्बरदार 363 प्रगति सदन बेरक नम्बर 03 जिल्हा जेल दंतेवाड़ा 494449 आवेदक का जिला - दन्तेवाड़ा विषय - Chawalpuller.blogspot.in + www.ricepullers.in बिना अनुमति शासकीय तीव्र खनन यूनिट COP4-12 से न्यायाधीशों के निजी बंगले चितालंका में तथाकथित सुपारी के एवज में नलकूप खनन की सौरभ कुमार नवनियुक्त दंतेवाड़ा कलेक्टर के माध्यम से सीबीआई जांच पड़ताल कराकर मनोरोगी सहायक यंत्री डी ऐन श्रीवास्तव 09407924284 को बर्खास्त कर कामता प्रसाद 0924219316 बाबू झूठी गवाही + झूठी शिकायत कोर्ट में आत्मत्राण कराकर पुनः शासन की नियमित सेवार्थ हेतु हत्या/आत्महत्या पूर्व अनन्तिम याचना. SSUSPEND ENGINEER DIVESH BHATT Mo 09981011455 REFERENCE http://cg.nic.in/jandarshan/ 991614000403 + 991615004144 + 991516006067 + 991615004145 +991615004622 + 991616004899 देवानंद श्रीवास्तव 07587451660 + 09407924284 + 09826145683 = 09406368529 & पगली औरत चमेलीबाई 07587875477 + 09424219316 की हत्या करें ? AAJ KI TAAJA KHABAR . MEATHERCHOD SWAI DEVRAJAN JO LEBBO PAR RAIN KARTA THA AUR RP MAGNET KHISKANE LAGA THA AB NAYA KAAM KAR RAHA HE . D K BHATT USKE VIDEO ME TATTI KAR DETA HE BHOSDI KA SAAF KARTA HE . D K BHATT NE dantewada 000 to 999 @gmail.com naam se 1000 id bana di he. www.ricepulleroo.in se 999 dot in tak 1000 free blog aur 5000 free website 17000 post bhi bana mare he. you tube ke sabhi magnet video se india bachana aur SANGITA MARI ki choot chodna MAHATMA GANDHI ki zindgi ka ek hi uddeya he.JAI HIND 09407924284 + 09406368529
==जीवन परिचय==
रामनरेश यादव का जन्म एक जुलाई 1928 ई. को उत्तर प्रदेश के [[आजमगढ़ जिला|आजमगढ़ जिले]] के गांव आंधीपुर (अम्बारी) में एक साधारण किसान परिवार में हुआ। आपका बचपन खेत-खलिहानों से होकर गुजरा। आपकी माता श्रीमती भागवन्ती देवी जी धार्मिक गृहिणी थीं और पिता गया प्रसाद जी महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू और डॉ॰ [[राममनोहर लोहिया]] के अनुयायी थे। आपके पिताजी प्राइमरी पाठशाला में अध्यापक थे तथा सादगी और ईमानदारी की प्रतिमूर्ति थे। श्री यादव को देशभक्ति, ईमानदारी और सादगी की शिक्षा पिताश्री से विरासत में मिली है। आपका भारतीय राजनीति में विशिष्ट स्थान है। आप कर्मयोगी और जनप्रिय नेता हैं। स्वदेशी एवं स्वावलंबन आपके जीवन का आदर्श है। आपके बहुमुखी कृतित्व एवं व्यक्तित्व के कारण आप बाबूजी'' के नाम से जाने जाते हैं।
 
श्री रामनरेश यादव का विवाह सन् 1949 में श्री राजाराम यादव निवासी ग्राम-करमिसिरपुर (मालीपुर) जिला-अम्बेडकर नगर (उ.प्र.) की सुपुत्री सुश्री अनारी देवी जी ऊर्फ शांति देवी जी के साथ हुआ। आपके तीन पुत्र और पांच पुत्रियां हैं। आपकी प्रारम्भिक शिक्षा गांव के विद्यालय में हुई और आपने हाईस्कूल की शिक्षा आजमगढ़ के मशहूर वेस्ली हाई स्कूल से प्राप्त की। इन्टरमीडिएट, डी.ए.वी. कालेज, वाराणसी से और बी.ए., एम.ए. और एल.एल.बी. की डिग्री काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी से प्राप्त की। उस समय प्रसिद्ध समाजवादी चिन्तक एवं विचारक आचार्य नरेन्द्र देव काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति थे। विश्वविद्यालय के संस्थापक एवं जनक पंडित मदनमोहन मालवीय जी के गीता पर उपदेश तथा भारत के पूर्व राष्ट्रपति एवं तत्कालीन प्रोफेसर डॉ॰ राधाकृष्णन के भारतीय दर्शन पर व्याख्यान की गहरी छाप आप पर विद्यार्थी जीवन में पड़ी।
 
यादव ने स्नातकोत्तर की शिक्षा प्राप्त करने के पश्चात वाराणसी में चिन्तामणि एंग्लो बंगाली इन्टरमीडिएट कालेज में प्रवक्ता के पद पर तीन वर्षों तक सफल शिक्षक के रूप में कार्य किया। आप पट्टी नरेन्द्रपुर इंटर कालेज जौनपुर में भी कुछ समय तक प्रवक्ता रहे। कानून की पढ़ाई पूरी करने के बाद सन् 1953 में आपने आजमगढ़ में वकालत प्रारम्भ की और अपनी कर्मठता तथा ईमानदारी के बल पर अपने पेशे तथा आम जनता में अपना एक महत्वपूर्ण स्थान बनाया।
 
श्री यादव ने छात्र जीवन से समाजवादी आन्दोलन में शामिल होकर अपने राजनीतिक एवं सामाजिक जीवन की शुरूआत की। आजमगढ़ जिले के गांधी कहे जाने वाले बाबू विश्राम राय जी का आपको भरपूर सानिध्य मिला। श्री यादव ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और डाक्टर रामनोहर लोहिया के विचारों को अपना आदर्श माना है। आपने समाजवादी विचारधारा के अन्तर्गत विशेष रूप से जाति तोड़ो, विशेष अवसर के सिद्धान्त, बढ़े नहर रेट, किसानों की लगान माफी, समान शिक्षा, आमदनी एवं खर्चा की सीमा बांधने, वास्तविक रूप से जमीन जोतने वालों को उनका अधिकार दिलाने, अंग्रेजी हटाओ आदि आन्दोलनों को लेकर अनेकों बार गिरफ्तारियां दीं। आपातकाल के दौरान आप मीसा और डी.आई. आर के अधीन जून 1975 से फरवरी 1977 तक आजमगढ़ जेल और केन्द्रीय कारागार नैनी इलाहाबाद में निरूद्ध रहे। आप अपने राजनीतिक एवं सामाजिक जीवन में विभिन्न दलों एवं संगठनों तथा संस्थाओं से संबद्ध रहे। राज्यसभा सदस्य तथा संसदीय दल के उपनेता भी रहे। आप अखिल भारतीय राजीव ग्राम्य विकास मंच, अखिल भारतीय खादी ग्रामोद्योग कमीशन कर्मचारी यूनियन और कोयला मजदूर संगठन कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में ग्रामीणों और मजदूर तबके के कल्याण के लिये लम्बे समय तक संघर्षरत रहे। बनारस हिन्दु विश्वविद्यालय में एक्सिक्यूटिव कॉसिंल के सदस्य भी थे। अखिल भारतीय अन्य पिछड़ा वर्ग (ओ.बी.सी.) रेलवे कर्मचारी महासंघ के आप राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और आप जनता इंटर कालेज अम्बारी आजमगढ़ (उ.प्र.) के प्रबंधक हैं तथा अनेकों शिक्षण संस्थाओं के संरक्षक भी हैं तथा गांधी गुरूकुल इन्टर कालेज भंवरनाथ, आजमगढ़ के प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी हैं।
 
श्री रामनरेश यादव 23 जून 1977 को उत्तरप्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री निर्वाचित हुए। मुख्यमंत्रित्व काल में आपने सबसे अधिक ध्यान आर्थिक, शैक्षणिक तथा सामाजिक दृष्टि से पिछड़े लोगों के उत्थान के कार्यों पर दिया तथा गांवों के विकास के लिये समर्पित रहे। आपने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आदर्शों के अनुरूप उत्तरप्रदेश में अन्त्योदय योजना का शुभारम्भ किया। श्री यादव सन् 1988 में संसद के उच्च सदन राज्यसभा के सदस्य बने एवं 12 अप्रैल 1989 को राज्यसभा के अन्दर डिप्टी लीडरशिप, पार्टी के महामंत्री एवं अन्य पदों से त्यागपत्र देकर तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की।
 
आपने मानव संसाधन विकास संबंधी संसदीय स्थायी समिति के पहले अध्यक्ष के रूप में आपने स्वास्थ्य, शिक्षा और संस्कृति के चहुंमुखी विकास को दिशा देने संबंधी रिपोर्ट सदन में पेश की। केन्द्रीय जन संसाधन मंत्रालय के अंतर्गत गठित हिन्दी भाषा समिति के सदस्य के रूप में आपने महत्वपूर्ण योगदान दिया। वित्त मंत्रालय की महत्वपूर्ण नारकोटिक्स समिति के सदस्य के रूप में सीमावर्ती राज्यों में नशीले पदार्थों की खेती की रोकथाम की पहल की। प्रतिभूति घोटाले की जांच के लिए बनी संयुक्त संसदीय समिति के सदस्य के रूप में आपने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। पब्लिक एकाउंट कमेटी (पी.ए.सी.), संसदीय सलाहकार समिति (गृह विभाग), रेलवे परामर्शदात्री समिति और दूरभाष सलाहकार समिति के सदस्य के रूप में आप कार्यरत रहे। आप कुछ समय तक कृषि की स्थाई संसदीय समिति के सदस्य तथा इंडियन काँसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च की जनरल बाडी तथा गवर्निंग बाडी के सदस्य भी रहे। आपका लखनऊ में अम्बेडकर विश्वविद्यालय को केन्द्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिलाने में काफी योगदान था।
 
श्री रामनरेश यादव ने सन् 1977 में आजमगढ़ (उ.प्र.) से छठी लोकसभा का प्रतिनिधित्व किया। आप 23 जून 1977 से 15 फ़रवरी 1979 तक उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। आपने 1977 से 1979 तक निधौली कलां (एटा) का विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया तथा 1985 से 1988 तक शिकोहाबाद (फिरोजाबाद) से विधायक रहे। श्री यादव 1988 से 1994 तक (लगभग तीन माह छोड़कर) उत्तरप्रदेश से राज्यसभा सदस्य रहे और 1996 से 2007 तक फूलपुर (आजमगढ़) का विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया। आपने दिनांक 8 सितम्बर 2011 को अपरान्ह 01.15 बजे मध्यप्रदेश के राज्यपाल पद की शपथ ग्रहण की। 7 सितम्बर 2016 तक आप मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहे। 22 नवंबर 2016 मंगलवार को लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में लंबी बीमारी के बाद इनका निधन हो गया।
{| class="wikitable"
|
{| class="wikitable"
|
{| class="wikitable"
|श्री रामनरेश यादव 
पूर्व मुख्यमंत्री , उत्तर प्रदेश
|}
|}
|-
|
{| class="wikitable"
|जन्म
|आजमगढ़, 1 जुलाई, 1928।
|-
|शिक्षा
|एम0ए0, एलएल0बी0, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय।
|-
|कार्यक्षेत्र
|कृषि, राजनीति, समाजसेवा, न्याय एवं शिक्षा।
|-
|न्याय
|एक सफल एवं योग्य वकील रहे।
|-
|राजनीति
|
* वर्ष 1977 के लोक सभा चुनाव में आपने आजमगढ़ जिले से जनता पार्टी के प्रत्याशी के रूप में विजय प्राप्त करके प्रथम बार संसदीय जीवन में प्रवेश किया।
* वर्ष 1977 के निर्वाचन के बाद हुए उपनिर्वाचन में आप जनता पार्टी के टिकट पर प्रथम बार विधान सभा के सदस्य निर्वाचित हुए।
* वर्ष 1985, 1996 तथा 2002 में पुनः उत्तर प्रदेश विधान सभा के सदस्य निर्वाचित।
* वर्ष 1988 से 1989 तक लोकदल से राज्य सभा सदस्य निर्वाचित हुए थे।
* वर्ष 1989 से 1994 तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से राज्य सभा सदस्य निर्वाचित हुए थे।
* 23 जून, 1977 से 28 फरवरी, 1979 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।
* 6 मार्च,1979 से 17 फरवरी 1980 तक श्री बनारसी दास मंत्रिमण्डल में उप मुख्यमंत्री रहे।
* आपने प्रदेश में दस गुना लगान, भूमि हड़पो, गन्ना गोदाम घेरो जैसे अनेक आन्दोलनों में भाग लिया।
* आपातकाल से पूर्व लगभग 10 बार गिरफ्तार हुए तथा आपात काल के मध्य 19 माह बन्दी रहे।
* संसदीय विषयों के अच्छे ज्ञाता होने के साथ ही प्रभावशाली वक्ता भी हैं।
* संसद की प्रथम गठित मानव संसाधन विभाग की संयुक्त संसदीय समिति के प्रथम अध्यक्ष (1993)
* राज्यसभा में राष्ट्रीय जनता पार्टी के उप नेता भी रहे है।
* 8 सितम्बर,2011 से मध्य प्रदेश के राज्यपाल।
|-
|स्थायी निवास
|ग्राम आंधीपुर, पोस्ट अम्बारी,, जिला आजमगढ़, उत्तर प्रदेश।
|}
|}
 
== सन्दर्भ ==
92

सम्पादन