"समीकरण" के अवतरणों में अंतर

71 बैट्स् नीकाले गए ,  4 वर्ष पहले
# सामान्यतः दोनों पक्षों का कोई [[फलन]] निकालने पर भी समीकरण सत्य बना रहता है। किन्तु इस बात का ध्यान रखना चाहिये कि कोई वाह्य हल (extraneous solutions) न आ जाय।
 
gggghhhjjjljjjjjn,mnjlkjkjkljkljlkj,mnm,nj,lkjljmnb== j,mhikljljknjlkसमीकरणपक्षान्त समीकरण के एक पक्ष में स्थित कोई चर, अचर, व्यंजक आदि को दूसरे पक्ष में ले जाने को पक्षान्तर कहा जाता है। समीकरण हल करने में पक्षान्तर का बहुत महत्व है। पक्षान्तर करने का सिद्धान्त उपर वर्णित समीकरण के गुणों पर ही आधारित है। ==
== पक्षान्तर ==
gggghhhjjjljjjjjn,mnjlkjkjkljkljlkj,mnm,nj,lkjljmnb j,mhikljljknjlkसमीकरण के एक पक्ष में स्थित कोई चर, अचर, व्यंजक आदि को दूसरे पक्ष में ले जाने को पक्षान्तर कहा जाता है। समीकरण हल करने में पक्षान्तर का बहुत महत्व है। पक्षान्तर करने का सिद्धान्त उपर वर्णित समीकरण के गुणों पर ही आधारित है।
 
== समीकरण के प्रकार ==
किसी समीकरण में निहित चर राशियों की प्रकृति के आधार पर समीकरण का वर्गीकरण इस प्रकार किया जा सकता है:
बेनामी उपयोगकर्ता