मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

[[चित्र:KTX-Sancheon.jpg|thumb]]
{{मुख्य|दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था|हान नदी पर चमत्कार|चार एशियाई चीते}}
[[२००८]] की स्थिति तक [[दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था]] क्रय शक्ति के आधार पर विश्व की 5वीं चौथी सबसे बड़ी और संज्ञात्मक आधार पर तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। [[प्रति व्यक्ति आय]] [[१९६३]] में १०० [[अमेरिकी डॉलर|$]] से बढ़कर [[२००५]] में २०,००० [[अमेरिकी डॉलर|$]] हो गई।
 
पिछले साठ वर्षों के दौरान दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों में चमत्कारी परिवर्तन आया है। दशक १९४० के दौरान देश की अर्थव्यवस्था मुख्यतः कृषि-आधारित और कुछ हलके उद्योगों पर आधारित थी। अगले कुछ दशकों के दौरान अर्थव्यवस्था में हल्के उद्योगों और उपभोक्ता उत्पादों पर बल दिया गया और दशक १९७० और १९८० के दौरान भारी उद्योगों पर बल दिया गया। प्रथम ३० वर्षों के दौरान राष्ट्रपति पार्क चुंग ही ने १९६२ से [[पञ्च वर्षीय योजनाएं (दक्षिण कोरिया)|पञ्च वर्षीय योजनाएं]] आरम्भ कीं, जिसके परिणामस्वरूप अर्थव्यवस्था बहुत तेज़ी से आगे बढ़ी और इसका स्वरूप भी बदला। दशक १९६० से १९९० के मध्य हुई अभूतपूर्व उन्नति के कारण दक्षिण कोरिया को [[ताइवान]], [[सिंगापुर]] और [[हांग कांग]] के साथ-साथ एक एशियाई चीता माना जाता है।
बेनामी उपयोगकर्ता