"घूमर" के अवतरणों में अंतर

125 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
छो
सम्पादन सारांश रहित
छो
{{स्रोतहीन|date=मई 2015}}
[[File:Ghoomar.jpg|thumb|घूमर नृत्य]]
'''घूमर''' [[राजस्थान]] की नृत्य शैली है। इसका निर्माण भील जनजाति द्वारा किया गया तथा बाद में अन्य राजस्थानी समुदाय द्वारा इसे अपनाया गया। यह नृत्य अधिकतर महिलाएं घूंघट लगाकर और एक घुमेरदार पोशाक जिसे "घाघरा" कहते हैं, पहन कर करती हैं। घूमर प्रायः ख़ास मौकों, जैसे विवाह, याहोली, फिरत्योहारों होलीऔर परधार्मिक आयोजयों में किया जाता है। घूमर के गाने राजसी और शाही किंवदंतियों या उनकी परम्पराओं पर केंद्रित हो सकते हैं।
 
==घूमर गीत==
[[File:Rajput Woman performing Ghoomar02.jpg|thumb|राजपूत महिला द्वारा घूमर नृत्य]]
सामान्यतः निम्न गीतों पर घूमर नृत्य किया जाता है।
*"म्हारी घूमर"
*"चिरमी म्हारी चिरमली"
*"आवे हिचकी" - पारम्परिक राजस्थानी घूमर गीत
1,000

सम्पादन