"कटारमल सूर्य मन्दिर": अवतरणों में अंतर

ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: यहॉ → यहाँ (2)
(ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: यहॉ → यहाँ (2))
|temple_board = अधेली सुनार व कटारमल
}}
'''कटारमल सूर्य मन्दिर''' भारतवर्ष का प्राचीनतम [[सूर्य मंदिर|सूर्य मन्दिर]] है। यह पूर्वाभिमुखी है तथा [[उत्तराखण्ड]] राज्य में [[अल्मोड़ा]] जिले के अधेली सुनार नामक गॉंव में स्थित है। इसका निर्माण [[कत्यूरी राजवंश]] के तत्कालीन शासक कटारमल के द्वारा छठीं से नवीं शताब्दी में हुआ था। यह कुमांऊॅं के विशालतम ऊँचे मन्दिरों में से एक व उत्तर भारत में विलक्षण स्थापत्य एवम् शिल्प कला का बेजोड़ उदाहरण है तथा समुद्र सतह से लगभग 2116 मीटर की ऊँचाई पर पर्वत पर स्थित है।
 
== इतिहास ==
 
;रेल मार्ग
रेलवे जंक्‍शन काठगोदाम जो कि लगभग एक सौ किलोमीटर की दूरी पर तथा दूसरा रेलवे जंक्शन 130 किलोमीटर पर रामनगर में है। दोनों स्थानों से सुविधानुसार उत्तराखण्ड परिवहन की बस अथवा टैक्सी कार द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है।
 
;सड़क मार्ग
दिल्‍ली के [[स्वामी विवेकानंद अंतर्राज्यीय बस अड्डा|आनन्द विहार आईएसबीटी]] से लगभग 350 किलोमीटर की दूरी पर है। यहॉयहाँ से अल्मोड़ा व रानीखेत के लिये उत्तराखंड परिवहन की बसें नियमित रूप से उपलब्ध होती हैं। जिनके द्वारा 10-15 घंटों में यहॉयहाँ पहुंचा जाता है। प्रदेश के अन्‍य स्थानों से भी बसों की सुविधाऐं उपलब्ध हैं।
 
'''दिल्‍ली से रूट:''' राष्‍ट्रीय राजमार्ग 24 से हापुड़, गजरौला, मुरादाबाद, काशीपुर, हलद्वानी, भवाली तथा अल्मोड़ा व रानीखेत होते हुए पहुंचा जा सकता है।