"लॉर्ड वोल्डेमॉर्ट" के अवतरणों में अंतर

विस्तार
(विस्तार)
(विस्तार)
}}
 
'''लॉर्ड वोल्डेमॉर्ट''' ({{lang-en|Lord Voldemort}}) [[जे॰ के॰ रोलिंग]] द्वारा रचित [[हैरी पॉटर (उपन्यास)]] शृंखला का एक काल्पनिक चरित्र है। वो इस उपन्यास के मुख्य किरदार [[हैरी पॉटर]] का मुख्य प्रतिद्वन्दी व खलनायक है। वोल्डेमॉर्ट का असली नाम '''टॉम (मार्वोलो) रिडल''' है। उसका प्रथम अवतरण ''[[हैरी पॉटर और पारस पत्थर]]'' में होता है। वह तृतीय भाग ''[[हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी]]'' को छोड़कर बाकी हर भाग में है। तृतीय भाग में केवल उसका जिक्र मिलता है।
 
वोल्डेमॉर्ट तन्त्र-मन्त्र और जादू-टोने के विद्यालय [[हॉग्वार्ट्स]] से शिक्षित है। उसका पिता [[टॉम रिडल सीनियर]] सामान्य [[मगलू]] (ग़ैर-जादूगर) था। उसकी माँ '''मेरोपी रिडल''' (जन्म : मेरोपी गॉण्ट) [[सलाज़ार स्लिदरिन]], से निकले [[शुद्ध रक्त]] वाले ख़ानदान से थी,<ref>{{HPref|book=2}}{{page needed|date=January 2011}}; {{HPref|book=6}}{{Page needed|date=July 2011}}</ref> जो कि [[हॉग्वार्ट्स|हॉग्वार्ट्स तन्त्र-मन्त्र और जादू-टोना विद्यालय]] के चार संस्थापकों में एक थे। बालक टॉम रिडल अनाथालय में जन्मा और पला-बढ़ा। जल्द ही उसे मगलू इंसानों और अशुद्ध रक्त (मगलुओं की पैदाइश) वाले जादूगरों से सख़्त नफ़रत होते लगी और साथ ही साथ काले जादू में उसका उत्साह बढ़ता गया। धीरे धीरे उसने अपनी तरह सोचने वाले बहुत से जादूगर इकठ्ठे किये और [[प्राण भक्षी]] नाम का गिरोह बनाया और उनका सरदार बन गया तथा लॉर्ड वोल्डेमॉर्ट के नाम से जाना गया। जो भी उसका विरोध करता था, वो और उसका गिरोह प्राण भक्षी उसका कत्ल कर देते थे। उसने हैरी पॉटर के माता पिता दोनो का ही [[अवादा केदाव्रा]] अभिशाप से कत्ल कर दिया। एक वर्षीय हैरी पर भी उसने यही अभिशाप चलाया। पर हैरी के मरने के बजाय अभिशाप पलट कर ख़ुद वोल्डेमॉर्ट को ही लग गया। हैरी बच निकला, पर वोल्डेमॉर्ट आधा-ज़िदा प्रेतात्मा बन कर रह गया। बाद में वोल्डेमॉर्ट जिस्मो-जान समेत वापस आ जाता है। उसके पास एक पालतू सर्पिनी [[नगिनी]] थी और वोल्डेमॉर्ट ख़ुद सर्पभाषा जानता है।
==उपस्थिति==
===''हैरी पॉटर और पारस पत्थर''===
वोल्डेमॉर्ट अपना पदार्पण ''[[हैरी पॉटर और पारस पत्थर]]'' से करता है। इस उपन्यास में रोलिंग ने उसे अनिष्ट देव के रूप में प्रस्तुत किया है जिसने हैरी के माता-पिता [[जेम्स पॉटर]] और [[लिली पॉटर]] की हत्या की है। परन्तु माँ के हैरी के प्रति प्यार और बलिदान की इछाश्क्ति के कारण वोल्डेमॉर्ट के मृत्यु श्राप अवादा केदाव्रा से शिशु हैरी बच जाता है और परिणामस्वरूप वोल्डेमॉर्ट शरीर खो देता है तथा हैरी के माथे पर निशान बन जाता है। इस भाग में वोल्डेमॉर्ट पारस पत्थर प्राप्त करके अपनी खोयी हुये शरीर को फिर से प्राप्त करने का असफल प्रयास करता है। इस उदेश्य को पूरा करने के लिये वह प्रोफ़ेसर [[क्विरल]] की मदद लेता है तथा उसके सर के पीछे आ जाता है। फिर भी हैरी अंत में उसे पारस पत्थर चुराने से रोक देता है।
 
==''हैरी पॉटर और रहस्यमयी तहखाना''==
उपन्यास के दूसरे संस्करण ''[[हैरी पॉटर और रहस्यमयी तहखाना]]'' में रोलिंग ने किशोरावस्था के वोल्डेमॉर्ट टॉम मार्वोलो रिडल को प्रस्तुत किया है जो कि जिनी वेस्ली द्वारा खोजी गयी जादुई डायरी में एक याद के रूप में रहता है। इस पुस्तक में जिनी का एक शर्मीली लड़की के तौर पर चित्रण किया गया है जो हैरी को पसन्द करती है। चिंतित और अकेली जिनी उस डायरी में अपने राज लिखने प्रारम्भ कर देती है जिसके कारण उसे रिडल से सहानुभूति उत्पन्न हो जाती है। कहानी के अंत में रिडल अपने नाम के अक्षरों को पुनर्व्यवस्थित करके खुलासा करता है कि वही वोल्डेमॉर्ट है जो अपनी जादुई डायरी के सहारे अपने शरीर को पुनः प्राप्त करके अनिष्ट देव बनना चाहता है। वह आगे खुलासा करता है कि उसने रहस्यमयी तहखाना खोलने के लिये जिनी को प्यादे के रूप में इस्तेमाल किया तथा वह जिनी के कमजोर होने पर वह मजबूत होगा परन्तु हैरी ने बैसिलिस्क के दातों की मदद से डायरी में बंद टॉम रिडल के यादों को परास्त किया। ''हैरी पॉटर और हाफ ब्लड प्रिन्स'' में को प्राध्यापक [[ऐल्बस डम्बल्डोर]] के माध्यम से पता चलता है कि वह डायरी वोल्डेमॉर्ट के 7 [[होर्क्रक्स]] में एक थी।
 
==''हैरी पॉटर और अज़्काबान का क़ैदी''==
तृतीय संस्करण में वोल्डेमॉर्ट की उपस्थिति नहीं है। कहानी के अंत के समय [[ज्योतिषशास्त्र]] की प्रोफेसर [[सिबिल ट्रेलावने]] ने एक स्वामिभक्त नौकर द्वारा वोल्डेमॉर्ट के पुनः जीवित किये जाने की भविष्यवाणी की और बताया कि वह नौकर 12 वर्षों बाद कैद से मुक्त होगा। शुरुआत में यह नौकर [[सीरियस ब्लैक]] लग रहा था परन्तु असल में वह रॉन का चूहा स्क्रैबर्स के भेष में था जिसका असली नाम [[पीटर पेटिग्र्यु]] या वॉर्मटेल था।
 
==सन्दर्भ==
9,286

सम्पादन