"ट्रांजिस्टर" के अवतरणों में अंतर

118 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
2405:204:70CE:D883:8416:D4FB:F5B8:82BE (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 3618560 को पूर्...
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(2405:204:70CE:D883:8416:D4FB:F5B8:82BE (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 3618560 को पूर्...)
[[चित्र:Electronic component transistors.jpg|thumb|200px|अलग-अलग रेटिंग के कुछ प्रथनक]]
 
'''प्रथनकट्रान्जिस्टर''' (ट्रान्जिस्टरप्रथनक) एक [[अर्धचालक युक्ति]] है जिसे मुख्यतः [[प्रवर्धक]] (Amplifier) के रूप में प्रयोग किया जाता है। कुछ लोग इसे बीसवीं शताब्दी की सबसे महत्वपूर्ण खोज मानते हैं।
ट्रांजिस्टर दो प्रकार के होते हैं।
 
प्रथनकट्रान्जिस्टर का उपयोग अनेक प्रकार से होता है। इसे [[प्रवर्धक]], स्विच, वोल्टेज नियामक (रेगुलेटर), संकेत न्यूनाधिक (सिग्नल माडुलेटर), थरथरानवाला (आसिलेटर) आदि के रूप में काम में लाया जाता है। पहले जो कार्य [[ट्रायोड]] से किये जाते थे वे अधिकांशत: अब प्रथनकट्रान्जिस्टर के द्वारा किये जाते हैं।
 
==प्रकार==
बिजेटीट्रांजिस्टर दो प्रकार करके होते है।हैं।
* [[बीजेटी]] (BJT)
1-npn
:(1) NPN
2-pnp
:(2) PNP
* फिल्ड इफेक्ट ट्रांजिस्टर या [[फेट]] (FET)
:(1) JFET
:(2) MOSFET
 
== बाहरी कड़ियाँ ==