"जमानत" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  3 वर्ष पहले
→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: है की → है कि
(जमानत के बारे मैं थोड़ी और अधिक जानकारी और एक उपयोगी बाहरी कड़ी जोड़ी गयी हैं)
(→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: है की → है कि)
{{आधार}}
 
'''ज़मानत''' (अंग्रेजी: bail) किसी अपराध के आरोपी व्यक्ति को [[कारागार]] से छुड़ाने के लिये [[न्यायालय]] के समक्ष जो सम्पत्ति जमा की जाती है या देने की प्रतिज्ञा की जाती है उसे कहते हैं। जमानत पाकर न्यायालय इससे निश्चिन्त हो जाता है कि आरोपी व्यक्ति सुनवाई के लिये अवश्य आयेगा अन्यथा उसकी जमानत जब्त कर ली जायेगी (और सुनवाई के लिये न आने पर फिर से पकड़ा जा सकता है।)  ज़मानत पर रिहा होना का मतलब है कीकि आपकी स्वतंत्रता की सीमाएं हैं- आप को देश छोड़ने से एवं बिना आगया यात्रा करने बाधित किया जा सकता है, और जब भी आवश्यक हो आप को न्यायालय अथवा पुलिस के समक्ष उपस्थित होना होता है I
 
ज़मानत के अनुसार [[अपराध]] दो प्रकार के होते हैं-