"नाकर" के अवतरणों में अंतर

126 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
नाकर की रामायण की प्रति '''डाहीलक्ष्मी पुस्तकालय, नडियाद''' मे है। इस प्रति मे ७ काण्ड हैं और प्रति क समय संवत १६२४ का हैं। इसके आरंभ के और अंत के पृष्ठ फटे हुए हैं। यह रामायण गुजराती 'कडवु' मे विभाजित हैं।
 
==नाकर की रामायण कथा<ref>https://archive.org/details/in.ernet.dli.2015.305156</ref>==
'''बालकाण्ड'''
* नाकर की रामायण की फटी हुए प्रति कडवुं ४ से प्रारंभ होती हैं जहाँ मोहिनी की कथा है।
* इसमें केवल सीता का भूमिप्रवेश और राम के स्वर्गगमन की कथा नहीं हैं।
 
==नाकर का महाभारत<ref>https://archive.org/details/in.ernet.dli.2015.305156</ref>==
'''आदिपर्व'''
नाकर का आदिपर्व '''सेन्ट्रल लाइब्रेरी, वडोदरा''' है जिसमें २६ कडवे हैं पर यह अधूरी हैं।
33

सम्पादन