"कोशिका" के अवतरणों में अंतर

197 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
Aliscience.in (Talk) के संपादनों को हटाकर Sohanmeena के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
छो
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका coi-spam
छो (Aliscience.in (Talk) के संपादनों को हटाकर Sohanmeena के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
कोशिकाएँ सजीव होती हैं तथा वे सभी कार्य करती हैं, जिन्हें सजीव प्राणी करते हैं। इनका आकार अतिसूक्ष्म तथा आकृति गोलाकार, अंडाकार, स्तंभाकार, रोमकयुक्त, कशाभिकायुक्त, बहुभुजीय आदि प्रकार की होती है। ये जेली जैसी एक वस्तु द्वारा घिरी होती हैं। इस आवरण को कोशिकावरण (cell membrane) या कोशिका-झिल्ली कहते हैं यह झिल्ली अवकलीय पारगम्य (selectively permeable) होती है जिसका अर्थ है कि यह झिल्ली किसी पदार्थ ([[अणु]] या [[ऑयन]]) को मुक्त रूप से पार होने देती है, सीमित मात्रा में पार होने देती है या बिल्कुल रोक देती है। इसे कभी-कभी 'जीवद्रव्य कला' (plasma membrane) भी कहा जाता है। इसके भीतर निम्नलिखित संरचनाएँ पाई जाती हैं:-
 
:(1) [https://www.aliscience.in/nucleus-nucleolus-in-hindi/ केंद्रक एवं केंद्रिका]
:(2) जीवद्रव्य
:(3) गोल्गी सम्मिश्र या गोल्गी यंत्र
== बाहरी कड़ियाँ ==
* [http://rpscportal2010.blogspot.com/2010/08/cell-structure-and-function.html कोशिका की संरचना और कार्य] (राजस्थान लोकसेवा आयोग पोर्टल)
* [https://www.aliscience.in/कोशिका-का-सामान्य-परिचय/ कोशिका की संरचना]
 
{{कोशिका}}
648

सम्पादन