"भारत छोड़ो आन्दोलन और बिहार" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
छो
७. राय गोविन्द सिंह- इस महान सपूत का जन्म पटना जिले के दशरथ ग्राम में हुआ। वह पुनपुन हाईस्कूल का ११वीं का छात्र था।
 
स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद इस स्थान पर [[शहीद स्मारक, पटना|शहीद स्मारक]] का निर्माण हुआ। इसका शिलान्यास स्वतन्त्रता दिवस को बिहार के प्रथम राज्यपाल जयराम दौलत राय के हाथों हुआ। औपचारिक अनावरण देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद ने १९५६ ई. में किया। भारत छोड़ो आन्दोलन के क्रम में बिहार में १५,००० से अधिक व्यक्‍ति बन्दी बनाये गये, ८,७८३ को सजा मिली एवं १३४ व्यक्‍ति मारे गये।
 
बिहार में भारत छोड़ो आन्दोलन को सरकार द्वारा बलपूर्वक दबाने का प्रयास किया गया जिसका परिणाम यह हुआ कि क्रान्तिकारियों को गुप्त रूप से आन्दोलन चलाने पर बाध्य होना पड़ा।
3,343

सम्पादन