"गणेश" के अवतरणों में अंतर

122 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== शारिरिक संरचना ==
[[File:Ganesh Statue Mandsour India.jpg|thumb|[[मंदसौर]] से प्राप्त प्रतिमा]]
[[चित्र:Ganesh1.jpg|thumb|right|200px|चतुर्भुज गणेश]]
गणपति आदिदेव हैं जिन्होंने हर युग में अलग अवतार लिया। उनकी शारीरिक संरचना में भी विशिष्ट व गहरा अर्थ निहित है। शिवमानस पूजा में श्री गणेश को प्रणव (ॐ) कहा गया है। इस एकाक्षर ब्रह्म में ऊपर वाला भाग गणेश का मस्तक, नीचे का भाग उदर, चंद्रबिंदु लड्डू और मात्रा सूँड है।