"केशवदास": अवतरणों में अंतर

1 बाइट हटाया गया ,  4 वर्ष पहले
छो
2405:204:A010:663C:FEA0:9AA1:7A09:F7BB (Talk) के संपादनों को हटाकर 14.139.244.242 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
[अनिरीक्षित अवतरण][अनिरीक्षित अवतरण]
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
छो (2405:204:A010:663C:FEA0:9AA1:7A09:F7BB (Talk) के संपादनों को हटाकर 14.139.244.242 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
[[चित्र:Self Portrait of Keshav Das.jpg|right|thumb|300px| केशव का स्वचित्रण (१५७० ई)]]
'''केशव''' या '''केशवदास''' (जन्म (अनुमानत:) 1555 विक्रमी और मृत्यु (अनुमानत:) 1618 विक्रमी) [[हिन्दी साहित्य]] के [[रीतिकाल]] की कवि-त्रयी के एक प्रमुख स्तंभ हैं। वे [[संस्कृत]] [[काव्यशास्त्र]] का सम्यक् परिचय कराने वाले [[हिंदी]] के प्राचीन आचार्य और [[कवि]] हैं।<ref>{{cite web|url=http://manaskriti.com/kaavyaalaya/kesav_chaunkati_see_chitve.stm |title='केसव' चौंकति सी चितवै |publisher=Manaskriti.com |date= |accessdate=2012-09-19}}</ref>
 
 
इनका जन्म सनाढ्य ब्राह्मण कुल में हुआ था। इनके पिता का नाम काशीराम था जो [[ओड़छा]]नरेश [[मधुकरशाह]] के विशेष स्नेहभाजन थे। मधुकरशाह के पुत्र महाराज इन्द्रजीत सिंह इनके मुख्य आश्रयदाता थे। वे केशव को अपना गुरु मानते थे। [[रसिकप्रिया]] के अनुसार केशव ओड़छा राज्यातर्गत तुंगारराय के निकट [[बेतवा नदी]] के किनारे स्थित ओड़छा नगर में रहते थे।<ref>{{cite web|url=http://groups.google.com/group/soc.culture.tamil/browse_thread/thread/25b7fd242e40b4f3/ba55a4c78499f912?hl=en&lnk=st&q=keshav++++Orchha+Khushwant+singh#ba55a4c78499f912 |title=Kabir, Tulsi, Raidas, Keshav |publisher=Groups.google.com |date= |accessdate=2012-09-19}}</ref>
47,590

सम्पादन