"चुम्बक" के अवतरणों में अंतर

2,025 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
चुम्बक की संरचना के बारे में लिखा गया और श्रोत भी लिखा गया।
छो (बॉट: आंशिक वर्तनी सुधार।)
(चुम्बक की संरचना के बारे में लिखा गया और श्रोत भी लिखा गया।)
===अस्थायी चुम्बक===
ये चुम्बक तभी चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न करते हैं जब इनके प्रयुक्त तारों से होकर विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है। धारा के समाप्त करते ही इनका चुम्बकीय क्षेत्र लगभग शून्य हो जाता है। इसी लिये इन्हें [[विद्युतचुम्बक]] (एलेक्ट्रोमैग्नेट्) भी कहते हैं। इनमें किसी तथाकथित ''मृदु'' या ''नरम'' (सॉफ्ट) चुम्बकीय पदार्थ का उपयोग किया जाता है जिसके चारो ओर तार की कुण्डली लपेटकर उसमें धारा प्रवाहित करने से चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है। [[कण त्वरक|कण त्वरकों]] में इनका बहुत उपयोग होता है, जैसे [[द्विध्रुव चुम्बक]] कणों को मोड़ने के काम आते हैं और चतुर्ध्रुवी चुम्बक (क्वाड्रूपोल) आवएशित कणॉं की बीम को फोकस करने के काम आती है।
 
== चुम्बक की संरचना ==
हर एक अणु का अपना एक चुम्बकीये क्षेत्र होता है। वैसे तो चुम्बकीये क्षेत्र सभी पदार्थो के अणुओं में पाया जाता है लेकिन चुम्बक के अणु एक खास तरह की संरचना बनाते हैं। जहाँ बाकी सारे पदार्थो का चुम्बकीये क्षेत्र अलग अलग दिशाओं में पाया जाता है जिससे की उनका कुल नेट मेग्नेटिक फील्ड शुन्य हो जाता है। लेकिन चुम्बक में ये सभी चुम्बकीय क्षेत्र एक ही दिशा में संरेखित होते हैं। और इसी कारण चुंबक का चुंबकीय क्षेत्र अति शुद्ध और कहीं अधिक शक्तिशाली होता है। दुसरे शब्दों में हर पदार्थ के हर इलेक्ट्रॉन का एक चुंबकीय क्षेत्र होता है। लेकिन केवल चुम्बक में ही ये सभी सूक्ष्म चुम्बकीय क्षेत्र एक दिशा में आकर एक बन जाते हैं और तब एक अधिक शक्तिशाली मैग्नेटिक फील्ड जिसे नेट मेग्नेटिक फील्ड भी कहते हैं, पैदा होता है।
 
== चुम्बकों के प्रमुख उपयोग ==
* [http://www.aacg.bham.ac.uk/magnetic_materials/units.htm Magnetic units are discussed here]
* [http://www.kidskonnect.com/Magnets/MagnetsHome.html Kids Konnect - Magnets]
* [https://einsty.com/hi/चुम्बक-कैसे-काम-करता-है/ चुम्बक की संरचना]
 
[[श्रेणी:भौतिकी]]
11

सम्पादन