"678": अवतरणों में अंतर

178 बाइट्स जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
रामायण में सभी राक्षसों का वध हुआ था। लेकिन💥 सूर्पनखा का वध नहीं हुआ था उसकी नाक और कान काट कर छोड़ दिया गया था । वह कपडे से अपने चेहरे को छुपा कर रहती थी । रावन के मर जाने के बाद वह अपने पति के साथ शुक्राचार्य के पास गयी और जंगल में उनके आश्रम में रहने लगी । राक्षसों का वंश ख़त्म न हो इसलिए, शुक्राचार्य ने शिव जी की आराधना की । शिव जी ने अपना स्वरुप शिवलिंग शुक्राचार्य को दे कर कहा की जिस दिन कोई "वैष्णव" इस पर गंगा जल चढ़ा देगा उस दिन राक्षसों का नाश हो जायेगा । उस आत्म लिंग क...
छो (→‎अक्टूबर-दिसंबर: आधार लेख वर्गीकरण, replaced: {{आधार}} → {{वर्ष-आधार}} AWB के स...)
(रामायण में सभी राक्षसों का वध हुआ था। लेकिन💥 सूर्पनखा का वध नहीं हुआ था उसकी नाक और कान काट कर छोड़ दिया गया था । वह कपडे से अपने चेहरे को छुपा कर रहती थी । रावन के मर जाने के बाद वह अपने पति के साथ शुक्राचार्य के पास गयी और जंगल में उनके आश्रम में रहने लगी । राक्षसों का वंश ख़त्म न हो इसलिए, शुक्राचार्य ने शिव जी की आराधना की । शिव जी ने अपना स्वरुप शिवलिंग शुक्राचार्य को दे कर कहा की जिस दिन कोई "वैष्णव" इस पर गंगा जल चढ़ा देगा उस दिन राक्षसों का नाश हो जायेगा । उस आत्म लिंग क...)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन Emoji
== अज्ञात तारीख़ की घटनाएँ ==
== जन्म ==
=== जनवरी-मार्च ===सोनिया गांधी जी ने कहा रही है हम 2019 में वापसी करेंगे....
 
इटली की ओर... 😂😂
 
=== अप्रैल-जून ===
=== जुलाई-सितंबर ===
गुमनाम सदस्य