"लक्ष्मण": अवतरणों में अंतर

138 बाइट्स जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
(ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: मे → में)
No edit summary
टैग: यथादृश्य संपादिका मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
{{स्रोतहीन|date=सितंबर 2012}}
{{पात्र ज्ञानसन्दूक}}
'''लक्ष्मण''' [[रामायण]] के एक आदर्श पात्र हैं। इनको शेषनाग का अवतार माना जाता है। [[रामायण]] के अनुसार, [[राजा दशरथ]] के तीसरे पुत्र थे, उनकी माता [[सुमित्रा]] थी। वे [[राम]] के भाई थे, इन दोनों भाईयों में अपार प्रेम था। उन्होंने राम-[[सीता]] के साथ १४ वर्षो का वनवास किया। मंदिरों में अक्सर ही राम-सीता के साथ उनकी भी पूजा होती है। उनके अन्य भाई [[भरत]] और [[शत्रुघ्न]] थे। lakshmanलक्ष्मण harहर kalaकला Meiमें nipunनिपुण theथे, chaheचाहे vahवो dhanurvidyaमल्लयुद्ध hoहो yaया pehalwani,धनुर्वेविद्या।मामा २ २धाधा
 
== आदर्श भाई ==
गुमनाम सदस्य