"हिन्दू पंचांग" के अवतरणों में अंतर

16 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
→‎तिथि: 10,6,2000 me saam 7:30 baje koan sa nachhtra tha
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(→‎तिथि: 10,6,2000 me saam 7:30 baje koan sa nachhtra tha)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
एक दिन को तिथि कहा गया है जो पंचांग के आधार पर उन्नीस घंटे से लेकर चौबीस घंटे तक की होती है। चंद्र मास में ३० तिथियाँ होती हैं, जो दो पक्षों में बँटी हैं। शुक्ल पक्ष में एक से चौदह और फिर [[पूर्णिमा]] आती है। पूर्णिमा सहित कुल मिलाकर पंद्रह तिथि। कृष्ण पक्ष में एक से चौदह और फिर अमावस्या आती है। अमावस्या सहित पंद्रह तिथि।
 
तिथियों के नाम निम्न हैं- पूर्णिमा (पूरनमासी), प्रतिपदा (पड़वा), द्वितीया (दूज), तृतीया (तीज), चतुर्थी (चौथ), पंचमी (पंचमी), षष्ठी (छठ), सप्तमी (सातम), अष्टमी (आठम), नवमी (नौमी), दशमी (दसम), एकादशी (ग्यारस), द्वादशी (बारस), त्रयोदशी (तेरस), चतुर्दशी (चौदस) और अमावस्या (अमावस)10,6,2000 saam 7:30
 
== वार ==
बेनामी उपयोगकर्ता