"युग वर्णन" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो
clean up, replaced: पांचजन्य → पाञ्चजन्य AWB के साथ
छो (2405:204:A318:714:0:0:17E:68AD (Talk) के संपादनों को हटाकर संजीव कुमार के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना प्रत्यापन्न
छो (clean up, replaced: पांचजन्य → पाञ्चजन्य AWB के साथ)
| Abode = [[वैकुंठ]]
| Mantra = ॐ नमो भगवते वासुदेवाय
| Weapon = [[शंख|पांचजन्यपाञ्चजन्य शंख]], [[चक्र|सुदर्शन चक्र]], [[गदा|कौमुदी गदा]] [[कमल|पद्म]]
| Consort = [[लक्ष्मी]]
| Mount = [[गरुड़]]
}}
 
'''युग''' का अर्थ होता है एक निर्धारित संख्या के वर्षों की काल-अवधि। उदाहरणः [[कलियुग]], [[द्वापर]], [[सत्य युग|सत्ययुग]], [[त्रेतायुग]] आदि। '''युग वर्णन''' का अर्थ होता है कि उस युग में किस प्रकार से व्यक्ति का जीवन, आयु, ऊँचाई होती है एवं उनमें होने वाले अवतारों के बारे में विस्तार से परिचय दे।
 
प्रत्येक [[युग]] के वर्ष प्रमाण और उनकी विस्तृत जानकारी कुछ इस तरह है :
 
==सत्ययुग==
*[[मुद्रा]] – [[चाँदी]]
*[[पात्र]] – [[ताम्र]] का
 
 
==कलियुग==
 
==चौरासी लाख योनियों की व्यवस्था==
८४ लाख योनि व्यवस्था कुछ इस प्रकार है
 
*[[जल|जलचर]] जीव - ९ लाख
{{रामायण}}
{{हिन्दू धर्म}}
 
[[श्रेणी:विष्णु]]
[[श्रेणी:हिन्दू धर्म]]
[[श्रेणी:संस्कृत साहित्य]]
[[श्रेणी:वैदिक धर्म]]
 
==बाहरी कडियाँ==
*गीता
*रुपेश पंचांग
 
[[श्रेणी:विष्णु]]
[[श्रेणी:हिन्दू धर्म]]
[[श्रेणी:संस्कृत साहित्य]]
[[श्रेणी:वैदिक धर्म]]