"आर्यभट" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
→‎विरासत: वर्तनीसुधार
(→‎विरासत: आदरसूचक शब्द)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(→‎विरासत: वर्तनीसुधार)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== विरासत ==
भारतीय खगोलीय परंपरा में आर्यभट के कार्य का बड़ा प्रभाव था और अनुवाद के माध्यम से इंहोंनेइन्होंने कई पड़ोसी संस्कृतियों को प्रभावित किया। इस्लामी स्वर्ण युग (ई. ८२०), के दौरान इसका अरबी अनुवाद विशेष प्रभावशाली था। उनके कुछ परिणामों को [[अल ख्वारिज्मी|अल-ख्वारिज्मी]] द्वारा उद्धृत किया गया है और १० वीं सदी के अरबी विद्वान [[अल बिरूनी|अल-बिरूनी]] द्वारा उन्हें सन्दर्भित किया गया गया है, जिन्होंने अपने वर्णन में लिखा है कि आर्यभट के अनुयायी मानते थे कि पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमती है।
 
[[ज्या|साइन]] (''ज्या''), कोसाइन (''कोज्या'') के साथ ही, वरसाइन (''उक्रमाज्या'') की उनकी परिभाषा,
215

सम्पादन