"विश्वनाथ शर्मा" के अवतरणों में अंतर

45 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
लेख का विस्तार किया गया
(लेख का विस्तार किया गया)
(लेख का विस्तार किया गया)
|laterwork= Board of directors, Local Advisory Board of India, [[ABN AMRO]], 1991-97<br/>Board of directors, Diamond & Gem Development Corporation, 1993-97<br/>Board of directors, [[Hawkins Cookers Limited]], 2001-present<br/>Member, [[Institute for Defence Studies and Analyses]], 1990-present<br/>Member, [[Royal United Services Institute|United Services Institute of India]], 1955-present<br/>Member, [[National Security Council (India)|National Security Advisory Board]], 2006-09<br/>Free Tuberculosis & Medical Center, [[Kangra, Himachal Pradesh|Dadh]], [[Himachal Pradesh]], 1992-present
}}
जनरल '''विश्वनाथ शर्मा''' , पीवीएसएम , एवीएसएम , एडीसी भारतीय सेना के <ref name="Bharat">{{cite web | url=http://www.bharat-rakshak.com/LAND-FORCES/Personnel/Chiefs/154-VN-Sharma.html | title=General Vishwa Nath Sharma | accessdate=19 August 2013}}</ref>
15 वें सेनाध्यक्ष थे । वह स्वतंत्र भारत के पहले मरणोपरांत परम वीर चक्र के प्राप्तकर्ता मेजर सोम नाथ शर्मा के छोटे भाई हैं, और पूर्व में भारतीय सेना के प्रमुख अभियंता लेफ्टिनेंट जनरल सुरेंद्र नाथ शर्मा भीके छोटे भाई हैं। दोनों भाइयों कोने प्रिंस ऑफ वेल्स के रॉयल इंडियन मिलिटरी कॉलेज , देहरादून में शिक्षितशिक्षा प्राप्त कियाकी गयाथी था।
 
शर्मा ,भारतीय सैन्य अकादमी , देहरादून में पांचवें नियमित पाठ्यक्रम में शामिल होने के लिए गए और उन्हें 4 जून 1 9 50 को 16 वें लाइट कैवेलरी में कमीशन किया गया। उन्होंने लाहौर सेक्टर में पाकिस्तान के खिलाफ 1 9 65 के युद्ध में लड़ा। उन्होंने 66 वें बख्तरबंद रेजिमेंट और बाद में एक विद्रोह प्रभावित क्षेत्र में माउंटेन ब्रिगेड का आदेशनेतृत्व दिया।किया । प्रतिष्ठित सेवा के लिए अतीअति विशिष्ट विश्व सेवा पदक कोसे सम्मानित किया गया, जनरल शर्मा ने 1 जून 1 9 87 को पूर्वी कमान के जीओसी-इन-सी के रूप में कार्यभार संभाला और उन्हें 25 जुलाई 1 9 87 को राष्ट्रपति को मानद सेना एडीसी नियुक्त किया गया। उन्होंने चीफ ऑफ 1 मई 1 9 88 को चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ का पद ग्रहण किया ।<ref>Page 50, Where Gallantry is Tradition: Saga of Rashtriya Indian Military College, By Bikram Singh, Sidharth Mishra, Contributor Rashtriya Indian Military College, Published 1997, Allied Publishers, {{ISBN|81-7023-649-5}}</ref> वे 30 जून 1 99 0 को सेवानिवृत्त हुए।