"इलियाड" के अवतरणों में अंतर

55 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Akhilleus Patroklos Antikensammlung Berlin F2278.jpg|200px|thumb|right|इलियड का प्राचीन ज़ूनानी निदर्श चित्र]]
'''इलियड''' या '''ईलियद''' ({{lang-en|ILIAD}}, [[प्राचीन यूनानी भाषा|प्राच. यून.]] Ἰλιάς ''Iliás'') — [[प्राचीन यूनानी]] शास्त्रीय (क्लासिकल) [[महाकाव्य]] है, जो कवियूरोप के आदिकवि [[होमर]] की रचना मानी जाती है। ईलियद यूरोप के आदिकवि होमर द्वारा रचित महाकाव्य। इसका नामकरण ईलियन नगर (ट्राय) के युद्ध के वर्णन के कारण हुआ है। समग्र रचना 24 पुस्तकों में विभक्त है और इसमें 15,693 पंक्तियाँ हैं। इलियाडइलियड ई.पू. तीसरी तथा दूसरी शताब्दियों में प्राचीन यूनानी वीरों के बहुसंख्यक इतिवृत्तों के आधार पर रची गयी है। इलियड में ट्राय राज्य के साथ ग्रीक लोंगो के युद्ध का वर्णन है। इस महाकाव्य में ट्राय के विजय और ध्वंस की कहानी तथा युनानी वीर एकलिस के वीरत्व की गाथाएं हैं।
== कथावस्तु एवं स्वरूप ==