"निर्जला एकादशी" के अवतरणों में अंतर

164 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो (निर्जला एकादशी को गंगा एकादशी भी कहते है क्योंकि इस दिन गंगा भागीरथी पृथ्वी पर आयी थी।निर्जला एकादशी के दिन गंगा स्नान बहुत अच्छा माना जाता है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
== विधान ==
{{manual|section|date=अप्रैल 2016}}
यह व्रत पर नर नारियोनारी दोनो को करना चाहीए जलपान के निषिद्ध होने पर भी फलहार के साथ दुध लिया जा सकता हैचाहिए। इस दिन निर्जल व्रत करते हुए शेषशायी रूप मे भगवान विष्णु की अराधना का विशेष महत्व हैहै। इस दिन ऊँ नमो भगवते वासुदेवायःवासुदेवाय का जापजप करके गोदान, वस्त्र दान, छत्र, फल आदि का दान करना चाहीए।
 
== सन्दर्भ ==
बेनामी उपयोगकर्ता