"वाह जनाब" के अवतरणों में अंतर

785 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
'''वाह जनाब''' [[1984]] में [[दूरदर्शन]] पर प्रसारित<ref>{{Cite news|url=http://hindi.webdunia.com/article/current-affairs/%E0%A4%9C%E0%A4%AC-%E0%A4%9A%E0%A4%B2%E0%A4%A4%E0%A4%BE-%E0%A4%A5%E0%A4%BE-%E0%A4%A6%E0%A5%82%E0%A4%B0%E0%A4%A6%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%B6%E0%A4%A8-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%9C-113091500035_1.htm|title=जब चलता था दूरदर्शन का राज|last=WD|access-date=2018-06-24|language=en}}</ref> एक लोकप्रिय [[धारावाहिक]] था। [[चन्न परदेसी]] नामक लोकप्रिय [[पंजाबी]] [[फिल्म]] से प्रसिद्ध होनेवाले [[चित्रार्थ]] ने इस धारावाहिक को निर्देशित किया था। फिल्म तथा टीवी अभिनेता व सूत्रधार [[शेखर सुमन]] का टीवी पर यह पहला कार्यक्रम था। इसमें उन्होंने हमेशा पान चबाते रहने वाले लखनवी छोटे नवाब का किरदार निभाया था। इस धारावाहिक में [[किरन जुनेजा]] और शेखर के [[लंगोटिया यार]] के रूप में [[शैलेंद्र गोयल]] ने मुख्य भूमिकायें निभाईं थीं। इस धारावाहिक के लेखक थे [[शरद जोशी]]।<ref>{{Cite web|url=https://hindi.firstpost.com/culture/special-story-death-anniversary-of-sharad-joshi-30411.html|title=शरद जोशी : ‘कबीर की तरह बहुरि अकेला’|website=Firstpost Hindi|language=hi-IN|access-date=2018-06-24}}</ref>
 
[[श्रेणी:टीवी कार्यक्रम]]
1,511

सम्पादन