"पुरूवास" के अवतरणों में अंतर

245 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
Reverted to revision 3836665 by Joanmrl (talk): आईपी खातों से बर्बरता।. (ट्विंकल)
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(Reverted to revision 3836665 by Joanmrl (talk): आईपी खातों से बर्बरता।. (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
{{स्रोतहीन|date=जून 2018}}
'''राजा पुरुवास''' या '''राजा पोरस''' का राज्य पंजाब में [[झेलम]] से लेकर [[चेनाब]] नदी तक फैला हुआ था। वर्तमान [[लाहौर]] के आस-पास इसकी राजधानी थी। राजा पोरस (राजा पुरू भी) पोरवा राजवंश के वशंज थे, जिनका साम्राज्य पंजाब में झेलम और चिनाब नदियों तक (ग्रीक में ह्यिदस्प्स और असिस्नस) और उपनिवेश ह्यीपसिस तक फैला हुआ था।
{{ज्ञानसन्दूक रोयलटी
 
|नाम= पुरूवास
==परिवार और रिश्तेदार==
|मुख्य_शीर्षक= पोरस
पोरस राजा [[बमनी]] और रानी [[अनुसूईया]] का बेटा था। [[लाची]] पोरस की पत्नी थी। [[मालायकेतु]] पोरस का बड़ा बेटा था। [[सिधारत]] पोरस का छोटा बेटा था। राजा [[अरुनायक]] पोरस का ससुर और रानी [[महाननदनी]] पोरस की सास थी। [[सुमेरा]] लाची का बड़ा भाई था। [[तक्षशिला]] का राजा [[आम्भी]] (आमभिराज) पोरस का मामा था। आमभि पोरस की माता अनुसूईया का बड़ा भाई था। रानी [[आलका]] पोरस की मामी थी। [[आमभिकुमार]] आमभिराज का बेटा था। बमनी की दूसरी पत्नी [[कदिका]] थी। [[कनिषक]] कदिका का बेटा था। कनिषक का वध पोरस ने किया था क्योंकि कनिषक ने बमनी को मारना चाहा था। [[शिवदत ]]बमनी का बड़ा भाई था जो हमेशा छल करता रहता था। अनुसूईया ने शिवदत का वध किया था कयोकि शिवदत ने कनिषक के साथ बमनी को मारने की कोशिश की थी। [[रिपुदमन]] राजा बमनी का सेनापति था जिसने पोरस का लालन-पालन किया था। [[परिथा]] रिुदमन की पत्नी थी। [[हसती]] रिपुदमन का बेटा था। [[समर सिह]] रानी कदिका का छोटा भाई था। [[राजा पौराव]] पोरस का दादा था। रानी [[काशि]] पोरस की दादी थी।
|तस्वीर= Indian_war_elephant_against_Alexander’s_troops_1685.jpg
|शीर्षक= सिकंदर के सैनिकों के खिलाफ भारतीय युद्ध हाथी, जोहान्स वान मांद एवेले, 1685 द्वारा निर्मित
|राज= ३४०-३१५ ईपू
|पूर्वाधिकारी= पौरव राजा बमनी
|उत्तराधिकारी= मालायकेतू
|जन्म_स्थान= [[पंजाब क्षेत्र]]
|मौत की तारीख= ३२१-३१५ ईपु
|image=|माता पिता=राजा बमनी
रानी अनुसूईया}}
पोरस'''राजा पुरुवास''' या '''राजा पोरस''' का राज्य पंजाब में [[बमनीझेलम]] औरसे रानीलेकर [[अनुसूईयाचेनाब]] कानदी बेटातक फैला हुआ था। वर्तमान [[लाचीलाहौर]] के आस-पास इसकी राजधानी थी। राजा पोरस (राजा पुरू भी) पोरवा राजवंश के वशंज थे, जिनका साम्राज्य पंजाब में झेलम और चिनाब नदियों तक (ग्रीक में ह्यिदस्प्स और असिस्नस) और उपनिवेश ह्यीपसिस तक फैला हुआ था। पोरस राजा बमनी और रानी अनुसूईया का बेटा था। लाची पोरस की पत्नी थी। [[मालायकेतु]] पोरस का बड़ा बेटा था। [[सिधारत]] पोरस का छोटा बेटा था। राजा [[अरुनायक]] पोरस का ससुर और रानी [[महाननदनी]] पोरस की सास थी। [[सुमेरा]] लाची का बड़ा भाई था। [[तक्षशिला]] का राजा [[आम्भी]]आमभिराज (आमभिराजआमभि) पोरस का मामा था। आमभि पोरस की माता अनुसूईया का बड़ा भाई था। रानी [[आलका]] पोरस की मामी थी। [[आमभिकुमार]] आमभिराजआमभि का बेटा था। बमनी की दूसरी पत्नी [[कदिका]] थी। [[कनिषक]] कदिका का बेटा था। कनिषक का वध पोरस ने किया था क्योंकिकयोकि कनिषक ने बमनी को मारना चाहा था। [[शिवदत ]]बमनी का बड़ा भाई था जो हमेशा छल करता रहता था। अनुसूईया ने शिवदत का वध किया था कयोकि शिवदत ने कनिषक के साथ बमनी को मारने की कोशिश की थी। [[रिपुदमन]] राजा बमनी का सेनापति था जिसने पोरस का लालन-पालन किया था। [[परिथा]] रिुदमन की पत्नी थी। [[हसती]] रिपुदमन का बेटा था। [[समर सिह]] रानी कदिका का छोटा भाई था। [[राजा पौराव]] पोरस का दादा था। रानी [[काशि]] पोरस की दादी थी।थी
 
== जीवनी ==
14,145

सम्पादन