"कुछ कुछ होता है" के अवतरणों में अंतर

16 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
ग़लती
छो (हिंदुस्थान वासी ने कुछ कुछ होता है (१९९८ फ़िल्म) पृष्ठ कुछ कुछ होता है पर स्थानांतरित किया: अनावश्यक वर्ष हटाया)
(ग़लती)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
| budget =
}}
'''कुछ कुछ होता है''' 1998 की [[हिन्दी भाषा]] की [[हास्य प्रेमकहानी फ़िल्में|हास्य प्रेमकहानी फ़िल्म]] फिल्म है। इसे [[करण जौहर]] ने लिखा और निर्देशित किया और लोकप्रिय ऑन-स्क्रीन जोड़ी [[शाहरुख खान]] और [[काजोल]] ने अपनी चौथी फिल्म में एक साथ अभिनय किया। [[रानी मुखर्जी]] ने सहायक भूमिका निभाई, जबकि [[सलमान खान]] की एक विस्तारित विशेष उपस्थिति भी थी। इस फिल्म से [[सना सईद]] जिन्होंने सहायक भूमिका निभाई, अपनी फिल्म करियर की शुरुआत की।
 
यह करण जौहर की निर्देशन शुरुआत थी। फिल्म भारत और विदेशों में सफल रही और साल की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली भारतीय फिल्म बन गई। साथ ही यह ''[[हम आपके हैं कौन]]'' और ''[[दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे]]'' के बाद सबसे ज्यादा कमाई करने वाली भारतीय फिल्म बनी। भारत के बाहर, यह फिल्म ''[[कभी खुशी कभी ग़म]]'' द्वारा रिकॉर्ड तोड़े जाने से पहले सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फ़िल्म थी।
 
कुछ कुछ होता है को आलोचकों से सकारात्मक समीक्षा मिली। विशेष प्रशंसा काजोल के प्रदर्शन को मिली। साउंडट्रैक भी साल का सबसे बड़ा विक्रेता बन गया। फिल्म ने [[फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार]], [[ज़ी सिने पुरस्कार]] और [[स्टार स्क्रीन पुरस्कार]] में "सर्वश्रेष्ठ फिल्म" पुरस्कार जीता।
 
== संक्षेप ==
राहुल ([[शाहरुख़ खान]]) और अंजलि ([[काजोल देवगन]]) एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं। राहुल एक खुशदिल और मस्तमौला लड़का होता है और अंजलि एक लड़कों जैसी लगने वाली और उन्हीं के जैसे शौक रखने वाली लड़की होती है। अंजलि और राहुल दोनों बहुत अच्छे दोस्त होते हैं और पूरे कॉलेज की जान होते है। जहाँ राहुल कॉलेज की लड़कियों के पीछे भागता है वहीं अंजलि को राहुल की इस तरह की हरकते बेहद नापसंद होती है। पर राहुल को अपने ही कॉलेज में [[ऑक्सफ़ोर्ड]] से पड़ने आई प्रिन्सिपल की बेटी टीना ([[रानी मुखर्जी]]) से प्यार हो जाता है। राहुल को टीना के साथ देखकर अंजलि को जलन होने लगती है और तब उसे एहसास होता है कि अंजलि की राहुल से दोस्ती दोस्ती नहीं प्यार है। टीना भी राहुल से प्यार करने लगती है लेकिन इसी बीच वो अंजलि को देखकर जान जाती है कि वो भी राहुल से प्यार करती है। यहाँ कहानी में प्रेम त्रिकोण बनता है लेकिन राहुल और टीना के लिए अंजलि कॉलेज छोड़ देती है।