"रासायनिक समीकरण" के अवतरणों में अंतर

8 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Combustion reaction of methane.jpg|right|thumb|300px|[[मिथेन]] का [[दहन]]]]
'''''किसी [[रासायनिक अभिक्रिया]] के प्रतीकात्मक निरूपण को रासायनिक समीकरण कहते हैं'''''
किसी [[रासायनिक अभिक्रिया]] के प्रतीकात्मक निरूपण को '''रासायनिक समीकरण''' कहते हैं। इसे समीकरण इसलिये कहा जाता है कि इसमें समता चिन्ह ('''=''') का प्रयोग किया जाता है ('''=''' के स्थान पर '''→''' का भी प्रयोग किया जाता है)। समता चिन्ह के बायीं ओर क्रिया करने वाले ([[अभिकारक]]) (reactants) लिखे जाते हैं तथा इसके दायीं ओर '''[[उत्पाद]]''' (products) लिखे जाते हैं। समीकरण का अधार यह है कि किसी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले भिभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या अभिक्रिया के उपरान्त भी अपरिवर्तित रहती है।
 
 
किसी [[रासायनिक अभिक्रिया]] के प्रतीकात्मक निरूपण को '''रासायनिक समीकरण''' कहते हैं। इसे समीकरण इसलिये कहा जाता है कि इसमें समता चिन्ह ('''=''') का प्रयोग किया जाता है ('''=''' के स्थान पर '''→''' का भी प्रयोग किया जाता है)। समता चिन्ह के बायीं ओर क्रिया करने वाले ([[अभिकारक]]) (reactants) लिखे जाते हैं तथा इसके दायीं ओर '''[[उत्पाद]]''' (products) लिखे जाते हैं। समीकरण का अधार यह है कि किसी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले भिभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या अभिक्रिया के उपरान्त भी अपरिवर्तित रहती है।
 
सबसे पहले रासायनिक समीकरण द्वारा रासायनिक अभिक्रिया का निरूपण सन १६१५ में '''जीन बेग्विन''' ने किया।
बेनामी उपयोगकर्ता