"नवबौद्ध" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
'''नवबौद्ध''' (अंग्रेजी: ''Neo Buddhist'') यह [[भारत सरकार]] एवं राज्य सरकारों द्वारा भारत के धर्म परिर्वतनपरिवर्तित कर बौद्ध बने हुए लोगो के लिए इस्तेमाल किये जाने वाली एक "सरकारी संज्ञा" हैं। तथापि भारतीय बौद्ध अनुयायि 'नवबौद्ध' नामक ग्रूप या समूदाय को नहीं मानते हैं, क्योंकि उनके अनुसार पारंपरिक बौद्ध तथा धर्म परिवर्तीतपरिवर्तित बौद्ध लोगों की धार्मिक पहचान केवल '[[बौद्ध]]' ही रहती हैं। नवबौद्धों को '''आम्बेडकरवादि बौद्ध''' भी कहां जाता हैं, क्योंकि वे सभी [[भीमराव आम्बेडकर]] की प्रेरणा से ही बौद्ध बने हुए होते हैं। कुल भारतीय बौद्धों में अधिकांश यानी 87% हिस्सा नवबौद्ध हैं। अन्य अनुमानो के अनुसार, भारत में भारत में नवबौद्धों की आबादी 5 से 7 करोड़ तक हैं।
 
14 अक्तूबर 1956 के दिन भीमराव आम्बेडकर ने 5 लाख से अधिक अनुयायिओं को [[बौद्ध धम्म]] की दीक्षा दी थी। आम्बेडकर के नेतृत्व में हुई यह 1956 की बौद्ध क्रांति आज भी सक्रिय हैं। 1956 के सामूहिक धर्म परिवर्तन समारोह के बाद से अब तक के धर्म परिवर्तन करपरिवर्तित बौद्ध बनेने वालों (नवबौद्धों) में अधिकांश लोग [[अनुसूचित जाति]] (एससी) से सम्बधित हैं।
 
==जनसँख्या==
4,478

सम्पादन