मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

1 बैट् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
223.225.126.192 (Talk) के संपादनों को हटाकर फ़िलप्रो के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
== भूगोल ==
[[चित्र:ZemathangGlacierView.jpg|thumb|240px|सिक्किम के पश्चिम में हिमालय की चोटियाँ]]
अंगूठे के आकार का सिक्किम पूरा पर्वतीय क्षेत्र है। विभिन्न स्थानों की ऊँचाई समुद्री तल से २८० मीटर (९२० फीट) से ८,५८५ मीटर (२८,००० फीट) तक है। [[कंचनजंगा]] यहाँ की सबसे ऊंची चोटी है। प्रदेश का अधिकतर हिस्सा [[खेती। कृषि]] के लिये अन्युपयुक्त है। इसके बावजूद कुछ ढलान को खेतों में बदल दिया गया है और पहाड़ी तरीके से खेती की जाती है। बर्फ से निकली कई धारायें मौजूद होने की वजह से सिक्किम के दक्षिण और पश्चिम में नदियों की घाटियाँ बन गईं हैं। यह धारायें मिलकर [[टीस्ता]] एवं [[रंगीत]] बनाती हैं। टीस्ता को '''सिक्किम की जीवन रेखा''' भी कहा जाता है और यह सिक्किम के उत्तर से दक्षिण में बहती है। प्रदेश का एक तिहाई हिस्सा घने जंगलों से घिरा है।
में नदियों की घाटियाँ बन गईं हैं। यह धारायें मिलकर [[टीस्ता]] एवं [[रंगीत]] बनाती हैं। टीस्ता को '''सिक्किम की जीवन रेखा''' भी कहा जाता है और यह सिक्किम के उत्तर से दक्षिण में बहती है। प्रदेश का एक तिहाई हिस्सा घने जंगलों से घिरा है।
[[चित्र:yumthanghimalayas.jpg|right|thumb|240px|सिक्किम के उत्तर में [[हिमालय]] पर्वत श्रंखला]]
[[चित्र:GurudongmarLake2010.jpg|right|thumb|240px|उत्तर सिक्किम में स्थित गुरुडांगमार सरोवर]]