"वाराणसी" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
वर्तनी गलत थी जिसे सही किया गया
छो (जानकारी को और विस्तृत किया गया)
छो (वर्तनी गलत थी जिसे सही किया गया)
 
;'''अन्य'''
::[[आंबेर]] के [[मान सिंह]] ने '''मानसरोवर घाट''' का निर्माण करवाया था। [[दरभंगा]] के महाराजा ने '''दरभंगा घाट''' बनवाया था। गोस्वामी [[तुलसीदास]] ने '''तुलसी घाट''' पर ही हनुमान चालीसा</ref><ref>[https://shabd.in/post/85395/shiv-ki-nagri-kashi काशी : शिव की नगरी]। शब्दनगरी। १७ जुलाई २०१८। अभिगमन तिथि:८ अगस्त २०१८</ref> और रामचरितमानस की रचना की थी। बचरज घाट पर तीन जैन मंदिर बने हैं और ये जैन मतावलंबियों का प्रिय घाट रहा है। [[१७९५]] में '''नागपुर''' के भोसला परिवार ने '''भोसला घाट''' बनवाया। घाट के ऊपर [[लक्ष्मी नारायण]] का दर्शनीय मंदिर है। '''राजघाट''' का निर्माण लगभग दो सौ वर्ष पूर्व [[जयपुर]] महाराज ने कराया।
 
=== मंदिर ===
28

सम्पादन