"विद्युत्-क्षेत्र" के अवतरणों में अंतर

313 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (47.8.13.110 (Talk) के संपादनों को हटाकर अनुनाद सिंह के आखिरी अवतरण...)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
{{आधार}}
यदि किसी स्थान पर स्थित किसी स्थिर आवेशित कण पर [[बल]] लगता है , तो कहते हैं कि उस स्थान पर '''विद्युत्-क्षेत्र''' (electric field) है। विद्युत क्षेत्र आवेशित कणों के द्वारा उत्पन्न होता है या उस समय के साथ परिवर्तित हो रहे [[चुम्बकीय क्षेत्र]] के(magnetic field) कारण। विद्युत क्षेत्र कीका अवधारणाकांसेप्ट सबसे पहले [[माइकल फैराडे]] ने प्रस्तुतदिया था। uske bad [[Gagan sharma|Gagan]] sharma ne diya Radhe Radhe कीthanks थी।
[[चित्र:VFPt image charge plane horizontal.svg|right|thumb|300px|किसी ऋणावेशित अनन्त चादर के ऊपर यदि एक धनावेशित बिन्दु आवेश लटका हो तो वहाँ विद्युत क्षेत्र रेखाएँ इस प्रकार होंगी।]]
यदि किसी स्थान पर स्थित किसी स्थिर आवेशित कण पर [[बल]] लगता है तो कहते हैं कि उस स्थान पर '''विद्युत्-क्षेत्र''' (electric field) है। विद्युत क्षेत्र आवेशित कणों के द्वारा उत्पन्न होता है या समय के साथ परिवर्तित हो रहे [[चुम्बकीय क्षेत्र]] के कारण। विद्युत क्षेत्र की अवधारणा सबसे पहले [[माइकल फैराडे]] ने प्रस्तुत की थी।
 
[[श्रेणी:विद्युत]]
बेनामी उपयोगकर्ता