"लम्बी दूरी वाला सम्बंध": अवतरणों में अंतर

* सम्बंध में साथियों से सीमित आमने-सामने हुई बैठकों से बहुत अधिक की अपेक्षा की जाती है।
 
==असफलता की सम्भावना का मुख्य कारण===
एक प्रेम संबंध जितना खिलता जाता है, दूरी उतनी मिटती जाती है। इसी के पश्चात प्रेमी उतने एक दूसरे के पास आते जाते हैं । और एक क्षण आता है जब वे इतने पास होते हैं कि दूरी रह ही नहीं जाती । और यह दूरी का मिटना शरीर के स्तर पर नहीं होता, क्योंकि शरीर के स्तर पर तो लम्बी दूरी वाले सम्बंध में होगी ही ।<ref>{{cite web |last1=ई-अस्तित्व |title=लम्बी दूरी के प्रेम संबंध असफल क्यों होते हैं? |url=http://e-astitva.in/love/long-distance-relationship-lambi-doorie-ke-prem-sambandh-safal-kaise-ho/ |website=ई-अस्तित्व |publisher=ई-अस्तित्व |accessdate=३ सितम्बर २०१८}}</ref> इस स्तर की निकटता स्थापित नहीं हो सकती। इससे सम्बंधों में निरसता और खटास फैल सकती और वे समाप्त हो सकते हैं।
 
29,803

सम्पादन