"सिद्धगिरि ग्रामजीवन संग्रहालय": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
No edit summary
'''सिद्धगिरि ग्रामजीवन संग्रहालय''' (कनेरी मठ) [[महाराष्ट्र]] मेंके [[कोल्हापुर]] के निकट [[कनेरी]]जिले में स्थित एकहै। [[मोम]]जो [[संग्रहालय]]कनेरी है।मठ यहके ''श्रीनाम क्षेत्रसे सिद्धगिरिभी मठ'' में स्थितलोकप्रिय है।
 
यह एक ऐसा गाँव है जहाँ किसान हल और बैल के साथ खड़े मिलेंगे। गाँव की औरतें कुंए में पानी भरने जाती हुयीहुई दिखेंगी। बच्चे पेड़ के नीचे गुरुकुल शैली में पढ़ाई कर रहे हैं, किसान खेत में भोजन कर रहे हैं और आस-पास पशु चारा चर रहे हैं। गाँव के घरों का घर-आँगन और विभिन्न कार्य करते लोग, लेकिन सब कुछ स्थिर ठहरा हुआ फिर भी एकदम सजीव, जीवंत।
गाँव के घरों का घर-आँगन और विभिन्न कार्य करते लोग, लेकिन सब कुछ स्थिर ...ठहरा हुआ फिर भी एकदम सजीव, जीवंत।
[[File:किसान.jpg|thumb|किसान खेति कर रहे हे]]
 
https://commons.wikimedia.org/wiki/File:%E0%A4%95%E0%A4%BF%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%A8.jpg
== परिचय ==
महाराष्ट्र में कोल्हापुर को न सिर्फ दक्षिण की ‘काशी,’ बल्कि महालक्ष्मी मां के आवास के रूप में भी जाना जाता है। यहां के प्राचीन मंदिर देश-विदेश के पर्यटकों के आकर्षण का विषय हैं। कोल्हापुर से केवल दस किलोमीटर की दूरी पर एक छोटा-सा शांत गांव है - कनेरी, जहां पर बना है देश के प्राचीनतम मठों में गिना जाने वाला ‘सिद्धगिरी मठ।’
47,590

सम्पादन