"रेडियो तरंग" के अवतरणों में अंतर

6 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (चित्र)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
{{MWband}}
[[चित्र:Milešovka (837 m), satelity na střeše.JPG|right|humb|300px|रेडियो और टेलीविजन प्रसारण के लिए प्रयुक्त ऐण्टेना]] #7T552
'''रेडियो तरंगें''' (radio waves) वे [[विद्युत चुम्बकीय तरंग|विद्युत चुम्बकीय तरंगें]] हैं, जिनका [[तरंगदैर्घ्य]] १० सेण्टीमीटर से १०० किमी के बीच होता है। ये मानवनिर्मित भी होती हैं और प्राकृतिक भी। मानव की कोई इंद्रिय इन्हें पहचान नहीं सकती बल्कि ये किसी अन्य तकनीकी उपकरण (जैसे, [[रेडियो संग्राही]]) द्वारा पकड़ी एवं अनुभव की जातीं हैं। इनका प्रयोग मुख्यतः बिना तार के, वातावरण या बाहरी व्योम के द्वारा सूचना का आदान प्रदान या परिवहन में होता है। इन्हें अन्य विद्युत चुम्बकीय तरंगों से इनकी तरंग दैर्घ्य के अधार पर पृथक किया जाता है, जो अपेक्षाकृत अधिक लम्बी होती है।
 
 
== ये बनती कैसे हैं ? ==
बेनामी उपयोगकर्ता