"करबला" के अवतरणों में अंतर

1,140 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
| utc_offset =
}}
'''कर्बला''' (अरबी: كربلاء, कर्बला) मध्य [[इराक]] में एक शहर है, [[बगदाद]] के लगभग 100 किमी (62 मील) दक्षिण-पश्चिम में स्थित है, और कुछ मील की दूरी पर मिल्खा झील के पूर्व में स्थित है। <ref name="Risk2008">{{Cite web|url=http://www.irinnews.org/report/77116/iraq-livelihoods-at-risk-as-level-of-lake-razaza-falls|title=Iraq: Livelihoods at risk as level of Lake Razaza falls |date=5 March 2008 |accessdate= 25 November 2015|publisher=IRIN News}}</ref><ref name="UF2004">{{cite book |title=Under Fire: Untold Stories from the Front Line of the Iraq War |url=https://books.google.com/books?id=jWVtAAAAMAAJ |date=January 2004 |publisher=Reuters Prentice Hall |isbn=978-0-13-142397-8 |page=15}}</ref> करबला करबला की राजधानी की राजधानी है, और 1.15 मिलियन लोगों (2012) की अनुमानित आबादी है।
 
'''करबला''' [[ईराक]] का एक प्रमुख शहर है। यहा पर इमाम हज़रत [[हुसैन]] ने अपने नाना हजरत [[मुहम्मद]] स्० के सिधान्तो की रक्षा के लिए बहुत बड़ा बलिदान दिया था। इस स्थान पर आपको और आपके लगभग पूरे परिवार और अनुयायियों को यजिद नामक व्यक्ति के आदेश पर सन् 680 (हिजरी 61) में शहीद किया गया था जो उस समय शासन करता था और [[इस्लाम धर्म]] में अपने अनुसार बुराईयाँ जेसे शराबखोरि, अय्याशी, वगरह लाना चाह्ता था।।
 
यह क्षेत्र [[सीरियाई मरुस्थल]] के कोने में स्थित है। करबला [[शिया]] स्मुदाय में [[मक्का]] के बाद दूसरी सबसे प्रमुख जगह है। कई मुसलमान अपने मक्का की यात्रा के बाद करबला भी जाते हैं। इस स्थान पर इमाम हुसैन का मक़बरा भी है जहाँ सुनहले रंग की गुम्बद बहुत आकर्षक है। इसे 1801 में सऊदी के राजा के पूरवजो ने नष्ट भी किया था पर [[फ़ारस]] (ईरान) के लोगों द्वारा यह फ़िर से बनाया गया।<ref>{{cite web| title=कर्बला |url = http://www.encyclopedia.com/doc/1E1-Karbala.html }}</ref>