"युवराज सिंह": अवतरणों में अंतर

3,835 बाइट्स हटाए गए ,  3 वर्ष पहले
छो
Kana ram jattt (Talk) के संपादनों को हटाकर Godric ki Kothri के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
छोNo edit summary
छो (Kana ram jattt (Talk) के संपादनों को हटाकर Godric ki Kothri के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: वापस लिया
|source = http://www.espncricinfo.com/india/content/player/36084.html क्रिकइन्फो
}}
<ref>{{Cite web|url=www.hihindi.com|title=|last=|first=|date=|website=|language=|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=}}</ref>'''युवराज सिंह''' (युवी) [[भारत]] के महान [[क्रिकेट]] खिलाडी हैं। इन्होंने 20-20 विश्व कप 2007 में इंग्लैंड के खिलाफ 6 गेंदों में 6 छक्के मारे थे, और 20-20 में 12 गेंदों में अर्धशतक बनाने का विश्व रिकॉर्ड भी उनके नाम है। युवराज सिंह को विश्व कप 2011 में अहम भूमिका निभाने में मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट चुना गया। इनका जन्म [[12 दिसंबर]] [[1981]] को [[चंडीगढ़]] में भूतपूर्व क्रिकेट खिलाड़ी [[योगराज सिंह]] के यहाँ जाट परिवार में हुआ था। उनको सिक्सर किंग नाम से जाना जाता है। [[इंडियन प्रीमियर लीग]] में [[किंग्स इलेवन पंजाब]], [[पुने वॉरियर्स इंडिया]], [[रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर]], [[दिल्ली डेयरडेविल्स]] की और से खेल चुके हैं, हाल में आईपीएल विजेता [[सनराइजर हैदराबाद]] से खेल रहे हैं। इन्होंने १ ओवर में ६ छक्के लगाने का विश्व रिकार्ड बनाया है
 
== युवराज सिंह का आरम्भिक क्रिकेट केरियर ==
<ref>{{Cite web|url=http://hihindi.com/%e0%a4%ae%e0%a4%b9%e0%a5%87%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%b9-%e0%a4%a7%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a4%be-%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%b5%e0%a4%a8/|title=महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय {{!}} MAHENDRA SINGH DHONI BIOGRAPHY IN HINDI|last=|first=|date=|website=|language=|archive-url=|archive-date=|dead-url=|access-date=}}</ref>प्रथम श्रेणी में पंजाब की और से अच्छा प्रदर्शन करने के बाद युवी का चयन सन 2000में युवी को पहला अंतराष्ट्रीय अंडर 19 मैच न्यूजीलेंड के खिलाफ खेलने का मोका मिला उस समय कैफ टिम की कमान सम्भाल रहे थे और पहले विदेशी दौर श्रीलंका गये थे जहा उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ आलराउडर प्रदर्शन करते हुए 4 विकेट लेने के साथ ही 68’रन बनाये थे इस मैच में युवी को मैन ऑफ़ दी मैच अवार्ड दिया गया था जो अन्तराष्ट्रीय कैरियर में पहला अवार्ड था और इस टूर्नामेंट में युवी मैन ऑफ़ दी टूर्नामेंट चुने गये थे युवी का भारतीय क्रिकेट टीम में चयन केन्या के खिलाफ सन 2000 में ही हो गया था जब टीम की कमान दादा (सोरव गांगुली) के पास थी और उस 11 में युवी के हीरो सचिन भी थे इस पहले अंतराष्ट्रीय मैच में युवी को बेटिंग नहीं आई थी इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में मात्र 25 रन ही बना पाए थे आखिर जाकर चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ तीसरा वनडे मैच खेला और इसमे उन्होंने सेंचुरी लगायी.
 
युवराज सिंह बाये हाथ के मिडिल आर्डर के धुअधार बल्लेबाज हैं और दाये हाथ से लेफट आर्म स्पिनर है बोल्लिंग और बल्लेबाजी के अलावा एक अच्छे फुर्तीले फिल्डर भी माने जाते हैं वनडे क्रिकेट में उनका strick रेट नब्बे का हैं और वो t-20 में 160 के strick रेट’ से खेलते हैं फील्डिंग में युवी कवर पॉइंट पर खड़े रहते हैं युवराज के cricket carior में 2005 का इंडियन ऑयल कप उनके लिए निर्णायक मोड़ साबित हुआ
 
==बाहरी कड़ियाँ==
9,327

सम्पादन