मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

आकार में कोई परिवर्तन नहीं, 11 माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
 
== राजनीतिक जीवन ==
1977 में कर्पुरी ठाकुर ने बिहार के वरिष्ठतम नेता [[सत्येन्द्र नारायण सिन्हा]] से नेतापद का चुनाव जीता और राज्य के दो बार मुख्यमंत्री बने। लोकनायक जयप्रकाशनारायण एवं समाजवादी चिंतक डॉ राम मनोहर लोहिया इनके राजनीतक गुरु थे एवं रामसेवक यादव,मधुलिमये जैसे सरीखे साथी थे।
लालू प्रसाद यादव,नितीश कुमार, राम विलास पासवान और सुशील कुमार मोदी के राजनीतिक गुरु । बिहार में पिछड़ा वर्ग के लोगों को सरकारी नौकरी में आरक्षण की व्यवस्था 1977 मे की ।
सत्ता पाने के लिए 4 कार्यकम बने
बेनामी उपयोगकर्ता