"अखिल भारतीय मुस्लिम लीग" के अवतरणों में अंतर

बंगाल बिभाजन के तत्कालीन बाद 1 ऑक्टोबर 1906 को आगा खा के नेतृत्व मे एक शिष्टमण्डल तत्कालीन वायसराय लार्ड मिंटो से मिलने शिमला पहुचा जिसमे केवल अभिजात्य वर्ग शामिल था जिसमे इन्होंने प्रथक निर्वाचन की माग की जिसे लार्ड मिंटो ने स्वीकार किया और कहा की आप केवल मुस्लिमो का प्रतिनिधित्व कर रहे हो तो आप अपनी पार्टी का नाम रख लो जिसके तहत ढाका के नवाव सलीमुल्ला ने 30 दिसम्बर 1906 को एक बैठक बुलायी जिसमे केवल मुस्लिम वर्ग शामिल था तो इसका नाम अखिल भारतीय मुस्लिम लीग रख दिया विजय
(बंगाल बिभाजन के तत्कालीन बाद 1 ऑक्टोबर 1906 को आगा खा के नेतृत्व मे एक शिष्टमण्डल तत्कालीन वायसराय लार्ड मिंटो से मिलने शिमला पहुचा जिसमे केवल अभिजात्य वर्ग शामिल था जिसमे इन्होंने प्रथक निर्वाचन की माग की जिसे लार्ड मिंटो ने स्वीकार किया और कहा की आप केवल मुस्लिमो का प्रतिनिधित्व कर रहे हो तो आप अपनी पार्टी का नाम रख लो जिसके तहत ढाका के नवाव सलीमुल्ला ने 30 दिसम्बर 1906 को एक बैठक बुलायी जिसमे केवल मुस्लिम वर्ग शामिल था तो इसका नाम अखिल भारतीय मुस्लिम लीग रख दिया विजय)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(बंगाल बिभाजन के तत्कालीन बाद 1 ऑक्टोबर 1906 को आगा खा के नेतृत्व मे एक शिष्टमण्डल तत्कालीन वायसराय लार्ड मिंटो से मिलने शिमला पहुचा जिसमे केवल अभिजात्य वर्ग शामिल था जिसमे इन्होंने प्रथक निर्वाचन की माग की जिसे लार्ड मिंटो ने स्वीकार किया और कहा की आप केवल मुस्लिमो का प्रतिनिधित्व कर रहे हो तो आप अपनी पार्टी का नाम रख लो जिसके तहत ढाका के नवाव सलीमुल्ला ने 30 दिसम्बर 1906 को एक बैठक बुलायी जिसमे केवल मुस्लिम वर्ग शामिल था तो इसका नाम अखिल भारतीय मुस्लिम लीग रख दिया विजय)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
इंडिया मुस्लिम लीग का ध्वज]]
 
'''अखिल भारतीय मुस्लिम लीग''' ''(ऑल इंडिया मुस्लिम लीग)'' [[ब्रिटिश भारत]] में एक राजनीतिक पार्टी थी और उपमहाद्वीप में मुस्लिम राज्य की स्थापना में सबसे कारफरमा शक्ति थी। भारतीय विभाजन के बाद ऑल इंडिया मुस्लिम लीग इंडिया में एक महत्त्वपूर्ण दल के रूप में स्थापित रही। खासकर कीरलह दूसरी पार्टियों के साथ शामिल हो कर सरकार बनाने की। पाकिस्तान के गठन के बाद मुस्लिम लीग अक्सर मौकों पर सरकर में शामिल रही।
बेनामी उपयोगकर्ता