मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

सम्पादन सारांश रहित
<ref>कौशल गोत्र</ref>
{{pp-template|small=yes}}{{प्रवेशद्वार:हाल की घटनाएँ/मुख्य समाचार}}
कौशल गौत्र
{|style="background-color:transparent" cellspacing=0 cellpadding=0
हिरण्यभा कौशल ऋषि हैं।
|valign="top" style="width:80%"|
जिनसे कौशल गोत्र आरंभ हुआ, जो की यज्ञवल्क्य ऋषि के शिक्षक थे !
{{प्रवेशद्वार:हाल की घटनाएँ/चालू महीना}}
कौशल गौत्र के कुल देवता ,***,बीरा जी है ।
{{प्रवेशद्वार:हाल की घटनाएँ/पिछला महीना}}
कौशल गौत्र की कुलदेवी ***शिवाय माता है ।
|valign="top" style="width:20%"|
 
{{प्रवेशद्वार:हाल की घटनाएँ/घटनाएँ/बगली}}
जो भी पंजाबी बिरादरी ,ककड ,मल्होत्रा ,मेहरोत्रा , मेहरा, मरवाहा, ओबराय ,मेहता ,बहल ,खोसला , माकन ,कपुर कत्याल ,कुरिछ ,खन्ना ,गुल्ला ,चोपड़ा ,कवात्रा ,साहनी ,त्रेहन, मग्गो ,केसर ,सहगल ,कुंद्रा ,धुस्सा , वोहरा , बराडा , भल्ला ,भटूरे ,सरीन , जसवाल और सच्चर वासन आदि खत्री हंस और झांजी, संगर, पंजवानी लबशे,लखनपाल ब्राह्मण इन जातियों का कौशल गोत्र है ! और इनकी कुलगुरु गद्दी का नाम श्री बीरा जी है !
Note:- कुछ क्षेत्रों में कपूर का गौत्र (कौशिक) खन्ना का गौत्र (कौशिक) चोपड़ा का गौत्र (अवलश )भी प्रचलित है कृपया अपने पूर्वज परंपरा के अनुसार चले ।
कुल गुरु परम्परा इस प्रकार है!
कौशल गोत्र के कुल गुरु और गद्दी
गुरु ब्रेह्मलिन १००८ श्री ख़ुशी राम जी मलनहंस कौशल गोत्रीय ! इन से पहले गुरु पूर्वजों का नाम पता नही चल पाया इसके बाद गुरू ब्रह्म लीन श्री 108 निर्मलदास जी मलनहंस कौशल गोत्रीय उसके उपरांत ब्रह्म लीन स्वामी श्री श्री 108 तारा चन्द जी मलनहंस कौशल गोत्रीय ब्रह्म लीन ! स्वामी श्रीश्री १०८ मंघा लाल जी मलनहंस कौशल गोत्रीय ! एवम् ब्रह्म लीन स्वामी श्री रोशन लाल जी मलनहंस कौशल गोत्रिय ब्रह्म लीन पंडित करम चन्द जी मलनहंस कौशल गोत्रिय, ब्रह्मलीन श्री गोकल चंद जी मलनहंस कौशल गोत्रीय ! इस समय इस परिवार में अब नन्द किशोर कौशल गद्दी का परचार और प्रसार कर रहे हैंजो भी पंजाबी ब्राह्मण एवं क्षत्रिय कौशल गोत्र के हैं ये उनकी गद्दी है !
संपर्क करे ! नन्द किशोर कौशल
निवास स्थान :-- 229 /7 नजदीक
पुराना पंजाब खादी आश्रम
पटेल नगर तहसील कैंप
पानीपत ( हरियाणा )
फोन न:-7206117775
🌹आपका सुखद भविष्य मेरा लक्ष्य🌹
🙏जय श्री बीरा जी 💐 जय शिवाय माता💐
|}
 
35

सम्पादन