"सिक्किम" के अवतरणों में अंतर

311 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
2405:204:C18F:7A3:0:0:2A0F:C8AC (Talk) के संपादनों को हटाकर 2409:4043:211D:B926:6323:866D:187D:6D32 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(→‎परिवहन: सिक्किम के पहले और इंडिया के 100वें हवाई अड्डा गंगटोक से 33 किमी दूर पेक्योँग में बनाया गया है।)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2405:204:C18F:7A3:0:0:2A0F:C8AC (Talk) के संपादनों को हटाकर 2409:4043:211D:B926:6323:866D:187D:6D32 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
 
== परिवहन ==
सिक्किम में कठिन भूक्षेत्र के कारण कोई [[हवाई अड्डा]] अथवा रेल स्टेशन नहीं है। हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा गंगटोक से 33 किमी दूर पेकयंग में सिक्किम का पहला और देश का 100 वाँ हवाई अड्डा बनाया गया है। निकट मेंसमीपतम हवाईअड्डा [[बागडोगरा|बागदोगरा हवाईअड्डा]], [[सिलीगुड़ी]], [[पश्चिम बंगाल]] में है। यह हवाईअड्डा गंगटोक से १२४ कि०मी० दूर है। गंगटोक से बागदोगरा के लिये ''सिक्किम हेलीकॉप्टर सर्विस'' द्वारा एक [[हेलीकॉप्टर]] सेवा उपलब्ध है जिसकी उड़ान ३० मिनट लम्बी है, दिन में केवल एक बार चलती है और केवल ४ लोगों को ले जा सकती है।<ref name="Thirty years">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/IPR/statehood/statehood_nutshell.htm |title= 30 Years of Statehood In a Nutshell |accessdate=2006-10-12 |date=[[2005-11-24]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of सिक्किम}}</ref> गंगटोक [[हैलीपैड]] राज्य का एकमात्र असैनिक हैलीपैड है। निकटतम [[भारतीय रेल|रेल]] स्टेशन [[न्यू जलपाईगुड़ी|नई जलपाईगुड़ी]] में है जो सिलीगुड़ी से १६ [[किलोमीटर। कि०मी०]] दूर है।<ref name="Sikkim Info"/>
 
राष्ट्रीय राजमार्ग ३१A सिलीगुड़ी को गंगटोक से जोड़ता है। यह एक सर्व-ऋतु मार्ग है तथा सिक्किम में [[रंग्पो]] पर प्रवेश करने के पश्चात [[तीस्ता नदी]] के समानान्तर चलता है। अनेक सार्वजनिक अथवा निजी वाहन हवाई-अड्डे, रेल-स्टेशन तथा और सिलिगुड़ी को गंगटोक से जोड़ते हैं। [[मेल्ली]] से आने वाले राजमार्ग की एक शाखा पश्चिमी सिक्किम को जोड़ती है। सिक्किम के दक्षिणी और पश्चिमी शहर सिक्किम को उत्तरी पश्चिमी बंगाल के पर्वतीय शहर [[कलिम्पोंग]] और [[दार्जीलिंग]] से जोड़ते हैं। राज्य के भीतर [[चौपहिया]] वाहन लोकप्रिय हैं क्योंकि यह राज्य की चट्टानी चढ़ाइयों को आसानी से पार करने में सक्षम होते हैं। छोटी बसें राज्य के छोटे शहरों को राज्य और जिला मुख्यालयों से जोड़ती हैं।<ref name="Sikkim Info"/>