"मीर उस्मान अली ख़ान" के अवतरणों में अंतर

के प्रति
(के प्रति)
 
===भारत-चीन युद्ध प्रयास में योगदान===
सं १९६५ में [[भारत-चीन युद्ध]] के चलते [[निज़ाम]] से स्थापित राष्ट्रीय रक्षा कोष में योगदान देने का अनुरोध किया गया। सं १९६५ में, मीर उस्मान अली खान ने युद्ध के फंड को बढ़ाने के लिएप्रति पांच टन - यानि ''५००० किलो का [[सोना]]'' का [[योगदान]] दिया। मौद्रिक शर्तों में, आज के बाजार मूल्य के रूप में निजाम का योगदान करीब 1500 [[करोड़]] रुपये था यह भारत में किसी भी व्यक्ति या संगठन द्वारा अब तक का सबसे बड़ा योगदान है।<ref>{{Cite news|url=http://www.deccanchronicle.com/140601/lifestyle-offbeat/article/rich-legacy-nizams|title=The rich legacy of Nizams|date=1 June 2014|work=Deccan Chronicle}}</ref>
 
==रानी एलिजाबेथ को उपहार==
343

सम्पादन