मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

छो
बॉट: date प्रारूप बदला।
11 सितम्बर की साजिश का विचार खालिद शेख मोहम्मद से आया जिसने यह विचार 1996 में ओसामा बिन लादेन के समक्ष प्रस्तुत किया।<ref>{{Cite news|url=http://news.bbc.co.uk/2/hi/south_asia/3128802.stm |title=Suspect 'reveals 9/11 planning' |publisher=बीबीसी न्यूज़ |date=सितंबर 22, 2003 |accessdate=May 20, 2008}}</ref> इस समय, [[सूडान]] से वापस [[अफ़ग़ानिस्तान|अफगानिस्तान]] स्थानांतरित होकर, बिन लादेन और अल कायदा संक्रमण की अवस्था में थे।<ref name="911-ch5">{{Cite book|author=National Commission on Terrorist Attacks Upon the United States |title=9/11 Commission Report |chapter=Chapter 5 |publisher=Government Printing Office |date=2004 |url=http://www.9-11commission.gov/report/911Report_Ch5.htm |accessdate=May 20, 2008 |isbn=1577363418}}</ref> बिन लादेन के अमेरिका पर हमले के इरादे के साथ, 1998 में अफ्रीकी दूतावास में बम विस्फोट तथा बिन लादेन के 1998 के फतवे से एक नया मोड़ आया।<ref name="911-ch5"/> दिसंबर 1998 में, निदेशक केन्द्रीय खुफिया आतंकवाद प्रतिरोधी केंद्र ने [[विलियम क्लिंटन|राष्ट्रपति बिल क्लिंटन]] को रिपोर्ट दी कि अपने कर्मियों को विमान अपहरण का प्रशिक्षण देने के साथ, अल-कायदा अमेरिका (USA) में हमलों की तैयारी कर रहा था।<ref>{{Cite web
|title = Bin Ladin Preparing to Hijack US Aircraft and Other Attacks
|date = 4 दिसंबर 1998-12-04
|accessdate = 2010-04-18 अप्रैल 2010
|publisher = [[Director of Central Intelligence]]
|url = http://www.foia.cia.gov/docs/DOC_0001110635/0001110635_0001.gif}}</ref>
* षड़योत्र (Plotz), डेविड (2001) [http://www.slate.com/default.aspx?id=115404 ओसामा बिन लादेन चाहता क्या है?]
* {{Cite book|author=Bergen, Peter L. |title=Holy War Inc. |publisher=Simon & Schuster |date=2001 |page=3}}
* {{Cite news|url=http://www.guardian.co.uk/g2/story/0,3604,558075,00.html |title=Face to face with Osama |publisher=द गार्डियन |date=सितंबर 26, 2001|location=London|accessdate=2010-05-13 मई 2010 | first=Rahimullah | last=Yusufzai}}
* {{Cite news|url=http://news.bbc.co.uk/2/hi/middle_east/2984547.stm|title=US pulls out of Saudi Arabia |accessdate=29 नवम्बर 2009|work=बीबीसी न्यूज़|date=2003-04-29 अप्रैल 2003}}
* {{Cite web|url=http://cryptome.org/zawahri-wsj.htm |title= Saga of Dr. Zawahri Sheds Light On the Roots of al Qaeda Terror |publisher=Wall Street Journal |date=जुलाई 2, 2002 |accessdate=May 20, 2008|archiveurl=http://web.archive.org/web/20051223041317/http://cryptome.org/zawahri-wsj.htm|archivedate=December 23, 2005}}
* {{Cite web|url=http://www.9-11commission.gov/archive/hearing10/9-11Commission_Hearing_2004-04-13.htm |title=Tenth Public Hearing, Testimony of Louis Freeh| publisher=9/11 Commission| date=April 13, 2004| accessdate=May 20, 2008}}
11 सितम्बर को हुए आतंकवादी हमले और खोबर टावर की बमबारी के पीछे, सऊदी अरब में खाड़ी युद्ध के बाद अमेरिकी सेना की निरंतर उपस्थिति का हाथ माना जाता है,<ref name="e1998"/> संयुक्त राज्य अमेरिका के दूतावास पर 1998 की बमबारी (7 अगस्त) अमेरिकी दलों को सऊदी अरब भेजे जाने के आठ साल बाद हुई.<ref>प्लौट्ज़, डेविड (2001) [http://www.slate.com/default.aspx?id=115404 व्हाट डज़ ओसामा बिन लादेन वांट?], स्लेट</ref> बिन लादेन ने पैगम्बर [[मुहम्मद]] के "अरब में काफिरों की स्थायी उपस्थिति" पर रोक लगाने की व्याख्या की।<ref name="holywar-p3">{{Cite book|author=Bergen, Peter L. |title=Holy War Inc. |publisher=Simon & Schuster |date=2001 |page=3}}</ref>
1996 में बिन लादेन ने एक फतवा जारी किया, जिसमें अमेरिकी सेनाओं को [[सउदी अरब|सऊदी अरब]] से बहार निकल जाने के लिए कहा गया।
1998 के फतवे में अल-कायदा ने लिखा "सात साल से अधिक समय से इस्लाम की भूमि के पवित्रतम स्थानों, अरब प्रायद्वीप पर, संयुक्त राज्य अमेरिका कब्जा किए हुए है, इसकी दौलत को लूट रहा है, इसके शासकों को हुक्म दे रहा है, इसके लोगों का अपमान कर रहा है, पड़ौसियों को आतंकित कर रहा है और प्रायद्वीप में इसके अड्डों को पड़ौसी मुस्लिम लोगों से लड़ने के लिए हरावल दस्तों में परिवर्तित कर रहा है।<ref name="1998 Al Qaeda fatwā">[http://www.fas.org/irp/world/para/docs/980223-fatwa.htm 1998 अल कायदा फतवा]</ref> 1999 में रहीमुल्ला युसूफजाई के साथ साक्षात्कार में बिन लादेन ने कहा, उन्होंने महसूस किया कि अमेरिकी "[[मक्का (शहर)|मक्का]] के बहुत नजदीक" थे और इसे पूरे मुस्लिम विश्व के लिए उकसाने वाला माना।<ref name="guardian-20010926">{{Cite news|url=http://www.guardian.co.uk/g2/story/0,3604,558075,00.html |title=Face to face with Osama |publisher=द गार्डियन |date=सितंबर 26, 2001|location=London|accessdate=2010-05-13 मई 2010 | first=Rahimullah | last=Yusufzai}}</ref>
 
नवंबर 2002 में अपने "अमेरिका के लिए पत्र" में बिन लादेन ने [[इज़राइल|इसरायल]] को संयुक्त राज्य अमेरिका के समर्थन को एक प्रेरणा बताया: इसरायल का निर्माण और उसकी निरंतरता सबसे बड़े अपराधों में से एक है और आप इन अपराधियों के नेता हैं। और बेशक इसरायल के लिए अमेरिकी समर्थन की मात्रा को समझाने या साबित करने की कोई जरूरत नहीं है। इसरायल का निर्माण एक अपराध है जिसे मिटा देना चाहिए। प्रत्येक और हर व्यक्ति जिसके हाथ इस अपराध में योगदान करके प्रदूषित हुए हैं, उसे इसकी कीमत चुकानी होगी और भारी कीमत चुकानी होगी।"<ref>[http://www.guardian.co.uk/world/2002/nov/24/theobserver बिन लादेन के "लेटर टू अमेरिका" के पूर्ण पाठ]</ref> 2004 और 2010 में, बिन लादेन ने फिर से 11 सितंबर के हमलों और संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा इसरायल के समर्थन के बीच संबंध को दोहराया।<ref>बिन लादेन का 2004 का आक्रमण पर टेप किया हुआ प्रसारण जिसमें वह आक्रमण के मकसद को स्पष्ट करता है और कहता है, "जिन घटनाओं ने सीधे मेरी आत्मा को प्रभावित किया वे 1982 में शुरू हुईं जब अमेरिका ने इसरायल को लेबनान पर आक्रमण करने की अनुमति दी और अमेरिका के छठे बेड़े ने उसमें उनकी मदद की। यह बमबारी शुरू हुई और बहुत से मारे गए और घायल हुए और अन्य को आतंकित तथा विस्थापित किया गया।"(अल जज़ीरा से उद्धरित [http://english.aljazeera.net/archive/2004/11/200849163336457223.html ऑनलाइन यहां])</ref><ref>बिन लादेन का जनवरी 2010 से टेप किया हुआ प्रसारण, जहां उसने कहा, "आप के [संयुक्त राज्य अमेरिका़] खिलाफ हमारे हमले तब तक जारी रहेंगे जब तक इसरायल को अमेरिकी समर्थन जारी रहता है। नाइजीरियाई नायक उमर फारूक अब्दुलमुतल्लब द्वारा आपको भेजा संदेश, 11 सितम्बर के नायकों द्वारा दिए गए हमारे पिछले संदेश का पुष्टिकरण है।" (से उद्धृत "बिन लादेन: अमेरिका पर हमले तब तक जारी रहेंगे जब तक वह इसराइल का समर्थन करता है" Haaretz.com में, [http://www.haaretz.com/news/bin-laden-attacks-on-u-s-to-go-on-as-long-as-it-supports-israel-1.265770 ऑनलाइन यहां]).</ref><ref>1998 का अल कायदा का फतवा भी देखें: "[संयुक्त राज्य अमेरिका का] लक्ष्य भी यहूदियों के तुच्छ राज्य की सेवा करना है और उसके द्वारा यरूशलम पर कब्जे तथा वहां मुस्लिमों की हत्या से ध्यान हटाना है। इस का सबसे अच्छा सबूत है सबसे मजबूत पड़ोसी अरब राज्य, इराक को नष्ट करने की इनकी उत्सुकता और इराक, सऊदी अरब, मिस्र और सूडान जैसे इस क्षेत्र के सभी देशों के कागजी राज्यों में टुकड़े करने के उनके प्रयास और उनके बिखराव और कमजोरी के माध्यम से इजरायल के अस्तित्व और प्रायद्वीप के क्रूर धर्मयुद्ध द्वारा कब्जे की निरंतरता की गारंटी." [http://www.pbs.org/newshour/terrorism/international/fatwa_1998.html 1998 फतवा का पाठ] पीबीएस (PBS) द्वारा अनुवाद</ref> मियरशीमर और वॉल्ट सहित कई विश्लेषक भी संयुक्त राज्य अमेरिका के द्वारा इसरायल के समर्थन को हमलों के लिए प्रेरणा मानते हैं।<ref name="guardian-20010926"/><ref>
हमले के दिन न्यूयॉर्क शहर के मेयर रुडी गुलियानी ने घोषणा की, "हम पुनर्निर्माण करेंगे. हम पहले से अधिक मजबूत होकर इससे बाहर निकलेंगे, राजनीतिक तौर पर अधिक मजबूत, आर्थिक रूप से अधिक मजबूत. क्षितिज फिर से परिपूर्ण किया जाएगा।"<ref>{{Cite news|last=Taylor |first=Tess |url=http://www.architectureweek.com/2001/0926/today.html |title=Rebuilding in New York |date=सितंबर 26, 2001 |publisher=Architecture Week |issue=68 |accessdate=May 21, 2008}}</ref> द लोअर मैनहटन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन, जिसे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर स्थल पर पुनर्निर्माण के प्रयासों में समन्वय का काम दिया गया था, की पुनर्निर्माण के प्रयासों हेतु प्रचुर धन होने के बावजूद कुछ न कर पाने के लिए आलोचना की गई।<ref>{{Cite web| last = Lubell| first = Sam|author2= Charles Linn| title = Power Struggle Heats Up While Development Moves Slowly at Ground Zero| publisher = Architectural Record| date= December 5, 2005| url = http://archrecord.construction.com/news/daily/archives/051205groundzero.asp| accessdate = September 8, 2006}}</ref><ref>{{Cite web| last = Buettner| first = Russ| title = Fat cats milked Ground Zero|publisher = Daily News| url = http://www.nydailynews.com/news/index.html/story/371361p-315964c.html| accessdate = September 8, 2006}}</ref>
 
मुख्य स्थल के आसन्न 7 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का निर्माण 2006 में पूर्ण हो गया था और पाथ (PATH) स्टेशन को 2003 के अंत में खोल दिया गया था। मुख्य वर्ल्ड ट्रेड सेंटर स्थल पर पुनर्निर्माण कार्य में 2006 के अंत में तब तक विलंब हुआ जब तक पट्टेदार लैरी सिल्वरस्टीन और पत्तन प्राधिकरण न्यूयॉर्क एवं न्यू जर्सी के मध्य नई इमारतों के वित्तपोषण पर समझौता नहीं हो गया।<ref>{{Cite news|url=http://select.nytimes.com/gst/abstract.html?res=F20913F63A550C718EDDA00894DE404482 |title=An Agreement Is Formalized on Rebuilding at Ground Zero |publisher=दि न्यू यॉर्क टाइम्स |last=Bagli |first=Charles V. |date=2006-09-22 सितंबर 2006 |accessdate-2 सितंबर 2010-09-02}}</ref> 1 वर्ल्ड ट्रेड सेंटर वर्तमान में स्थल पर निर्माणाधीन है और 2011 में निर्माण पूर्ण होने पर 1,776 फुट (541 मीटर) ऊंवर्तमान में स्थल पर निर्माणाधीन चाई वाली, सिर्फ टोरंटो के सीएन (CN) टॉवर के बाद, उत्तरी अमेरिका में सबसे ऊंची इमारतों में से एक होगी।<ref>{{Cite news|first=David W. |last=Dunlap |author2=Glenn Collins |title=Revised Design for Freedom Tower Unveiled |url=http://www.nytimes.com/2006/06/28/nyregion/28cnd-freedom.html?_r=1&pagewanted=1&ei=5094&en=43f0767f75b25082&hp&ex=1151553600&partner=homepage |publisher=दि न्यू यॉर्क टाइम्स |date=जून 28, 2006 |accessdate=December 29, 2008}}</ref><ref>[http://web.archive.org/web/20090330043805/http://www.newsday.com/services/newspaper/printedition/friday/news/ny-nyfree2712590972mar27,0,6084299.story फ्रीडम टॉवर का नाम वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में बदल गया] न्यूज़डे 26 मार्च 2009</ref>
 
2007 और 2012 के बीच स्थल पर जहां मूल टॉवर खड़े थे, उससे एक ब्लॉक पूर्व में, तीन टॉवर और बनाए जाने की आशा थी। 2000 के दशक के अंत की मंदी के बाद स्थल स्वामियों ने कहा कि नए टॉवरों के निर्माण में 2036 तक विलंब हो सकता है।<ref>{{Cite news|title=Talk of delaying WTC towers for decades|agency= Associated Press| date=April 16, 2009 |url=http://finance.yahoo.com/news/Talk-of-delaying-WTC-towers-apf-14944197.html|accessdate=April 19, 2009}} {{Dead link|date=जून 2010|bot=H3llBot}}</ref> पेंटागन के क्षतिग्रस्त अनुभाग का पुनर्निर्माण और कब्जा हमलों के एक साल के अंदर ही कर लिया गया था।<ref>{{Cite news|last=Oglesby |first=Christy |title=Phoenix rises: Pentagon honors 'hard-hat patriots' |url=http://archives.cnn.com/2002/US/09/11/ar911.memorial.pentagon/ |publisher=CNN |date=सितंबर 11, 2002 |accessdate=June 13, 2008}}</ref>
हमलों के बाद, स्टैटन द्वीप पर फ्रेश किल्स लैंडफिल को अस्थाई तौर पर वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के नष्ट होने से निकले अधिकांश मलबे को प्राप्त करने और संसाधित करने के लिए पुनः खोला गया था। मलबे में अधिकतर धूल और छोटे-छोटे टुकड़ों के रूप में अनेक पीड़ितों के अवशेष शामिल थे। अगस्त 2005, 17 वादियों ने, 1000 अन्य रिश्तेदारों के समर्थन का दावा करते हुए, अदालत में एक मामला दायर किया था कि न्यूयॉर्क शहर, फ्रेश किल्स लैंडफिल से लगभग दस लाख टन मलबा हटा कर किसी अन्य स्थान पर ले जाए और वहां इसकी छटनी करके अवशेषों को कब्रिस्तान में रखा जाए। वादियों के वकील नॉर्मन सीगल ने कहा "यह तो अधमता होगी: क्या हम सैकड़ों शरीर के भागों तथा मानव अवशेषों को कूड़े के ढेर पर छोड़ देने के लिए तैयार हैं?" शहर का प्रतिनिधित्व करने वाले एक वकील, जेम्स ई. टायरेल ने तर्क दिया "आप में विशिष्ट विवरण देकर यह कहने की क्षमता होनी चाहिए कि यह मेरे शरीर का भाग है। यहाँ जो सब छोड़ा गया है वह एक समान धूल का ढेर है।"<ref>{{Cite news|first=C.J.|last=Hughes|title=9/11 Families Press Judges on Sifting at Landfill|date=December 16, 2009|publisher=New York Times|url =http://www.nytimes.com/2009/12/17/nyregion/17sift.html|accessdate = December 29, 2009}}</ref><ref>{{Cite news|first=Anemona|last=Hartocollis|title=Landfill Has 9/11 Remains, Medical Examiner Wrote|date=मार्च 24, 2007|publisher=New York Times|url =http://www.nytimes.com/2007/03/24/nyregion/24remains.html|accessdate = December 29, 2009}}</ref>
 
26 मार्च 2010 को 9/11 के शिकार लोगों के परिवारों को एक नोटिस प्राप्त हुआ कि शहर द्वारा फ्रेश किल्स लैंडफिल में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के अवशेषों के लिए छंटनी (सिफ्टिंग) प्रक्रिया का आयोजन किया जाएगा। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 14 लाख डॉलर की अनुमानित लागत वाले इस ऑपरेशन में तीन महीने का समय लगेगा। मानवविज्ञानी और अन्य प्रशिक्षित पेशेवर लोग ध्यानपूर्वक सामग्री का मूल्यांकन एवं खोज करेंगे और संभावित अवशेषों को आगे जांच के लिए मुख्य चिकित्सा परीक्षक के कार्यालय की प्रयोगशालाओं में भेजा जाएगा।<ref>{{Cite news|first=Doug|last=Auer|title=City to sift again for 9/11 remains|date=मार्च 27, 2010|publisher=Staten Island Advance|url =http://www.silive.com/news/index.ssf/2010/03/city_to_sift_again_for_911_rem.html|accessdate = 2010-03-29 मार्च 2010}}</ref>
 
4 अक्टूबर 2010 को संयुक्त राज्य अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने 9/11 शिकारों के कुछ परिवारों द्वारा दायर की गई, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की साइट से प्राप्त सामग्री की, निपटान से पहले मानव अवशेषों के लिए एक अधिक संपूर्ण परीक्षा की आवश्यकता हेतु अपील को खारिज कर दिया। उन्होंने दावा किया कि कुछ सामग्री (1.65 मिलियन में से 223,000 टन) की या तो छानबीन नहीं की गई है या फिर पर्याप्त छानबीन नहीं की गई है और एक गड्ढा उस सामग्री का उपयुक्त विश्राम स्थल नहीं हो हो सकता जिसमें अभी भी शिकारों के अवशेष हो सकते हैं। (अदालत के रिकॉर्ड के अनुसार, 2,752 मृत लोगों में से लगभग 1100 न तो कभी भी बरामद हुए और न किसी की पहचान हुई.) शहर के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने सामग्री को गड्ढे में भेजने से पहले 10 महीने तक, मानव अवशेषों के लिए ध्यान से सामग्री की जांच की थी। निचली संघीय अदालत न्यूयॉर्क सिटी के खिलाफ परिवारों के मुकदमे पहले ही खारिज कर चुकी थी।<ref>{{cite news | first = Bill | last = Mears | title = High court rejects appeal over remains of unidentified 9/11 victims | date = October 4, 2010 | url = http://www.cnn.com/2010/CRIME/10/04/scotus.rejected.cases/ | work = CNN | accessdate = 6 अक्टूबर 2010-10-06}}</ref>
 
== इन्हें भी देखें ==
5,706

सम्पादन